2 महीने में 12 डेंगू संभावितों की एलिसा आईजीएम जांच में 3 में डेंगू की पुष्टि

2 महीने में 12 डेंगू संभावितों की एलिसा आईजीएम जांच में 3 में डेंगू की पुष्टि
- बाजे गाजे के साथ निकली भगवान महावीर स्वामी जी की शोभा यात्रा झांकी प्रभात फेरी मे जगह जगह हुई भगवान की पूजा अर्चना आरती दक्षिणापथ, देवकर (रमेश जैन)। नगर देवकर मे भगवान महावीर स्वामी जी की जंयती जैन समुदाय के लोगों द्वारा बड़े ही धूमधाम ,उत्साह और उमंग के साथ मनाया गया। इस अवसर पर सुबह भगवान विमल नाथ जी की मंदिर मे पूजा अर्चना कर भगवान की भव्य शोभा यात्रा झांकी बाजे गाजे के साथ महावीर स्वामी की जयकारे के साथ आरंभ हुआ जो नगर के मुख्य मार्ग महावीर चौक, बस स्टैंड, नदिया पार ,गांधी चौक, दुर्गा चौक, महादेव चौक होते हुऐ भव्य जूलूस भगवान विमल नाथ जी मंदिर पहूचं कर समाप्त हुआ। शोभायात्रा के दौरान जैन समाज के लोगों ने अपने अपने दुकानो, घरों के समाने भगवान की पूजा अर्चना आरती किया एवं उपस्थित सभी लोगों को पानी,शवॆत, फल,मिष्ठान, आदि वितरण किया गया तथा शोभा यात्रा के दौरान पुरे रास्ते भर नगर वासीयों को मिष्ठान वितरण भी किया गया। शोभायात्रा मे जैन श्री संध, युवा मंडल, महिला मंडल, बालक एवं बालिका मंडल भारी संख्या में हिस्सा लिये और भगवान महावीर स्वामी जी की दिव्य संदेश जिओ और जिने दो , प्रेम का अमृत पिने दो ,भगवान की जयकारे,के साथ बैण्ड बाजे की घुन पर नाचते-गाते गाते पुरे शांती पूणे तरीके से शोभा यात्रा को सम्पन्न किया। इस दौरान शांती एवं सुरक्षा व्यवस्था के लिये स्थानीय पुलिस चौकी के प्रभारी एवं स्टाप मौजूद रहे । भगवान महावीर स्वामी जी की जंयती को अंहिसा दिवस के रूप मे भी मनाया गया एवं भगवान की वाणी को आत्मसात कर उनके बताये गये रास्ते पर चलने का संकल्प लिया गया । संसार के सम्स्त प्राणियों पर दया भाव ,हर जीव को जीने का अधिकार होता है,किसी भी जीव की हिंसा न करना,न करवाना,दया करूणा भाव, समता भाव के जीवन यापन कर पाप कर्मों से दुर रहना आदि सभी बातो पर चलने का संकल्प लिया गया । भगवान महावीर स्वामी जी की जंयती के इस अवसर पर नगर जैन समाज के सभी व्यावसायिक प्रतिष्ठान दिन भर के लिये बंद रहा और जैन समाज के युवा वर्गों द्वारा जैन भवन गांधी चौक देवकर मे भव्य भंडारा का आयोजन किया गया था जिसमें नगर के सभी वर्गों को प्रसादी वितरण किया गया। आज रात महावीर स्वामी जी की जंयती के अवसर पर भक्ति गीत का आयोजन किया गया है। आयोजित इस रात्रि कालीन भक्ति संध्या मे देवकर सहित आसपास के बहूत से नगर ग्रामों के जैन समाज के लोगों को भी आमंत्रित किया गया है।