कहा- सॉन्ग का टाइटल ही बेहूदा, पठान के 'बेशर्म रंग' गाने पर VHP-RSS ने जताई आपत्ति, वीएचपी ने की कांटछांट की मांग

कहा- सॉन्ग का टाइटल ही बेहूदा, पठान के 'बेशर्म रंग' गाने पर VHP-RSS ने जताई आपत्ति, वीएचपी ने की कांटछांट की मांग

पठान फिल्म के गाने बेशर्म रंग को लोगों ने तो खूब पसंद किया, लेकिन हिंदू महासभा ने सिरे से नकार दिया. सिर्फ हिंदू महासभा ही नहीं वीर शिवाजी समूह ने भी बीते दिन आपत्ति जताई थी. वहीं अब विश्व हिंदू परिषद भी विवाद में कूद पड़ी है. सभी को दीपिका पादुकोण की पहनी भगवा बिकिनी पर ऑब्जेक्शन है. विश्व हिंदू परिषद ने कहा कि हिंदू सोसायटी इस तरह के फिल्म को कभी स्वीकार नहीं करेगी. 


हिंदू महासभा के बाद विश्व हिंदू परिषद यानी (VHP) ने बेशर्म रंग गाने के सीन और दीपिका पादुकोण के पहने भगवा बिकिनी पर आपत्ति जताई है. वीएचपी ने गाने को सही करने की मांग की है. गुरुवार को दीपिका पादुकोण के भगवा आउटफिट पर अपनी आपत्ति दर्ज कराते हुए वीएचपी ने गाने से कुछ सीन को हटाने की डिमांड की है. 

विश्व हिंदू परिषद के स्पोक्स पर्सन विनोद बंसल ने अपने बयान में कहा कि- भगवा को बेशर्म बताते हुए बेहूदा और आपत्तिजनक किस्म की एक्टीविटी करना, एंटी हिंदू मानसिकता की हद है. विनोद बंसल ने अपने मैसेज में मेकर्स को खूब खरी खोटी सुनाई. उन्होंने पठान के मेकर्स को चेतावनी देते हुए कहा कि गाने और फिल्म में जरूरी बदलाव तत्काल प्रभाव से किए जाएं. फिल्म से सभी आपत्तिजनक सीन्स को तुरंत हटा दिए जाएं. 

RSS को नाम से भी दिक्कत
विश्व हिंदू परिषद के साथ ही राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ यानी RSS ने कहा कि गाने के कुछ सीन देखने लायक या बड़े पर्दे पर दिखाने लायक नहीं है. उन सीन्स पर तत्काल प्रभाव से बदलाव करने की बात कही गई है. RSS ने कहा- गाने में दीपिका के सीन के साथ-साथ उसके टाइटल बेशर्म रंग पर भी आपत्ति जताई है. संगठन ने कहा कि हिंदू सोसायटी इस तरह की फिल्म को कभी एक्सेप्ट नहीं करेगी.   

क्या था मंत्री का बयान

बुधवार को इस मामले पर मध्य प्रदेश के मंत्री ने चेतावनी दी थी कि अगर फिल्म में दीपिका के कपड़े और कुछ सीन्स को बदला नहीं गया तो वो प्रदेश में फिल्म को रिलीज नहीं होने देंगे. डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कहा था कि- फिल्म पठान के गाने में टुकड़े-टुकड़े गैंग की समर्थक अभिनेत्री दीपिका पादुकोण के कपड़े और वेशभूषा बेहद आपत्तिजनक है. वहीं गाना भी दूषित मानसिकता के साथ फिल्माया गया है. गाने के दृश्यों और वेशभूषा को ठीक किया जाना चाहिए. अन्यथा फिल्म को मध्य प्रदेश में रिलीज की अनुमति दी जाए या नहीं दी जाए, इसपर विचार करना होगा. मंत्री के बयान के बाद प्रदेश में फिल्म के खिलाफ जमकर विरोध प्रदर्शन किया गया था.