महाअष्टमी पर 700 साल बाद बना ग्रहों का महासंयोग, इन राशियों के शुरू होंगे अच्छे दिन

महाअष्टमी पर 700 साल बाद बना ग्रहों का महासंयोग, इन राशियों के शुरू होंगे अच्छे दिन
RO No.12784/129

RO No.12784/129

RO No.12784/129

Chaitra Navratri Shubh Yog: ज्योतिष शास्त्र के जानकारों के अनुसार इस बार चैत्र नवरात्रि की अष्टमी तिथि बेहद खास है, क्योंकि महाअष्टमी पर ग्रहों का अद्भुत संयोग बन रहा है। खास बात ये है कि ये शुभ संयोग 700 साल बाद बनने जा रहा है। दरअसल, गुरु इस समय अपनी राशि मीन में विराजमान हैं और 28 मार्च से मीन राशि में ही अस्त होंगे। इसके बाद मेष राशि में बुध का गोचर होने जा रहा है। वहीं सूर्य मीन राशि और शनि अपनी राशि कुंभ में विराजमान हैं। इसके अलावा शुक्र और राहु मेष राशि में विराजमान हैं। इस तरह से महाअष्टमी के दिन 6 बड़े ग्रह चार राशियों में विराजमान होंगे, जिसके प्रभाव से महासंयोग का निर्माण हो रहा है। इस दौरान मालव्य, केदार, हंस और महाभाग्य योग का निर्माण होगा। ऐसे में इन महायोगों के निर्माण से कई राशि के जातकों को विशेष लाभ होगा। चलिए जानते हैं इस दौरान कौन सी राशियां भाग्यशाली होंगी...  

मिथुन राशि
मिथुन राशि के जातक इस दौरान भाग्यशाली साबित होंगे। इस दौरान इस राशि वालों को शुभ समाचार प्राप्त हो सकते हैं। अविवाहित लोगों के लिए विवाह के योग बनेंगे। दामपत्य जीवन अच्छा रहेगा। साथ ही बिजनेस करने वाले लोगों को बिजनेस में लाभ मिल सकता है।

कर्क राशि
महाअष्टमी के दिन बन रहे हंस और मालव्य राजयोग कर्क राशि के जातकों के लिए शुभ साबित होगा। कार्यक्षेत्र में पद प्रतिष्ठा प्राप्त हो सकती है। वहीं बेरोजगार लोगों को अच्छी नौकरी प्राप्त हो सकती है। कार्यस्थल पर सहकर्मियों का सहयोग प्राप्त होगा।
 
कन्या राशि
कन्या राशि के जातकों के लिए ये समय शुभ होगा। छात्रों के लिए यह समय बहुत ही शानदार समय रहने वाला है। बिजनेस करने वालों के लिए भी यह समय काफी बेहतर रहने वाला है। साथ ही बेरोजगारों को नई नौकरी मिल सकती है।

 
मीन
मीन राशि के जातक इस दौरान समाज में मान सम्मान प्राप्त करेंगे। बिजनेस करने वालों के लिए भी समय अच्छा है। नौकरी करने वाले लोगों के लिए यह समय उत्तम है। आपके रुके हुए सभी कार्य पूरे होंगे। साथ ही माता रानी का आशीर्वाद प्राप्त होगा।