कंगना रनौत की बहन रंगोली को भारी पड़ा आलिया का मजाक उड़ाना, खुद ही हो गईं ट्रोल

कंगना रनौत की बहन रंगोली को भारी पड़ा आलिया का मजाक उड़ाना, खुद ही हो गईं ट्रोल

Ro No. 12111/89

Ro No. 12111/89

Ro No. 12111/89

बाल अधिकारों पर जागरूकता लाने के लिए शहर के मुख्य स्थलों को सजाया गया नीली रोशनी से, #GoBlue यूनिसेफ की पहल

दक्षिणापथ,रायपुर। विश्व बाल दिवस के अवसर पर रायपुर शहर के मुख्य स्थल जैसे कि तेलीबांधा तालाब, बूढा तालाब, जयस्तंभ चौक, घड़ी चौक और भगत सिंह चौक आज नीली रोशनी से जगमगा रहे है।

डॉ एस भर्तिदासन, जिला कलेक्टर रायपुर, ने बताया कि इन सार्वजनिक स्थलों की सजावट नीले रंग में करने का मुख्य उद्देश्य लोगो मे बाल अधिकारों के प्रति जागरूकता पैदा करना है । इस पहल के माध्यम से यह संदेश दिया जा रहा है कि हमे बच्चों को कोरोना माहमारी के प्रभाव से सुरक्षित रखने की ज़रूरत है ।

श्री जॉब ज़कारिया, छत्तीसगढ़ में यूनिसेफ के चीफ, ने इस अवसर पर कहा कि #GoBlue यूनीसेफ की एक विश्व-स्तरीय पहल है जिसका उद्देश्य लोगों में कोरोना के प्रभाव और पर्यावरणीय परिवर्तन के प्रति जागरूकता पैदा करना है । COVID के सामाजिक और आर्थिक प्रभावों के कारण बाल मृत्यु दर , कुपोषण, बाल विवाह, बाल मजदूरी, और बच्चों से जुड़े अपराधों में बढ़ोत्तरी होने की संभावना है, जिसे रोकने के लिए हमे पुरज़ोर प्रयास करने की ज़रूरत है। COVID19 बाल अधिकारों के लिए बड़ा खतरा बन सकता है और इस स्तिथि से बचना आवश्यक है। विश्व बाल दिवस हमे बच्चो के प्रति हमारी ज़िम्मेदारी याद दिलाता है कि हम उन्हें सीखने के अवसर प्रदान करें, उन्हें शोषण से बचाए और उन्हें सुपोषित रखे।

नवम्बर 20, 1989 को कन्वेंशन ऑफ चाइल्ड राइट्स (CRC) को अपनाए जाने के उपलक्ष्य में विश्व बाल दिवस मनाया जाता है। इस अवसर पर भारत मे इस पूरे सप्ताह विभिन्न आयोजन किये गए। आयोजनों का यह सिलसिला राष्ट्रीय बाल दिवस यानी नवंबर14 से शुरू किया गया।