छठ महापर्व के आखिरी दिन उगते सूर्य को अर्घ्य देने घाट पर उमड़े श्रद्धालु

छठ महापर्व के आखिरी दिन उगते सूर्य को अर्घ्य देने घाट पर उमड़े श्रद्धालु
RO No.12822/158

RO No.12822/158

RO No.12822/158

दुर्ग। आस्था का महापर्व छठ पूजा के चौथे दिन सोमवार को उदय होते सूर्य की पूजा कर अर्घ्य देने के लिए घाट पर बड़ी संख्या में व्रती महिला और पुरुष उमड़े। अर्घ्य देकर व्रती महिलाओं ने संतान के स्वस्थ दीर्घायु जीवन, अखंड सौभाग्य की कामना और परिवार की खुशहाली के लिए भगवान सूर्यदेव से प्रार्थना की। इस अवसर पर कसारीडीह सिविल लाईन स्थित शीतला तालाब घाट में सतरुपा शीतला सेवा समिति द्वारा व्रती महिलाओं के पूजा अर्चना के लिए विशेष व्यवस्था की गई थी।

इस दौरान समिति द्वारा छठ महापर्व के प्रसाद के रुप में व्रती महिलाओं और उनके परिजनों को फल का वितरण किया गया। साथ ही उनके लिए जलपान की व्यवस्था भी की गई थी। इस सेवाकार्य में सतरुपा शीतला सेवा समिति के अध्यक्ष संजय सिंह, अधिवक्ता रमेश शर्मा के अलावा अन्य सदस्यों ने योगदान दिया। चार दिनों तक चलने वाले व्रत का प्रारंभ खरना से प्रारंभ होता है और 36 घंटे का निर्जला व्रत रख अस्ताचल सूर्य की पूजा और उदयाचल सूर्य की पूजा कर व्रत पूरा किया जाता है।

उत्तर भारत के इस प्रमुख त्योहार को देशभर में पूरे आस्था के साथ मनाया जाता है। श्रद्धालुओं का कहना है कि छठी मइया हमारे परिवार की रक्षा करती है और हर संकट को दूर करती है।