सोनू सूद के घर फिर पहुंची इनकम टैक्स विभाग की टीम

सोनू सूद के घर फिर पहुंची इनकम टैक्स विभाग की टीम
दक्षिणापथ, रायपुर। छत्तीसगढ़ प्रदेश भाजपा प्रवक्ता व पूर्व मंत्री केदार कश्यप ने भूपेश बघेल सरकार के आबकारी मंत्री कवासी लखमा द्वारा प्रधानमंत्री के विरुद्ध अभद्र टिप्पणी करने पर कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा है कि यह तय है कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल अपने मंत्री कवासी लखमा के मुंह से बेशर्म बयान बयान दिलवा रहे हैं? बघेल जो बयान खुद नहीं दे सकते, उसे वे लखमा के मूंह से दिलाते हैं। उन्होंने कहा कि अगर ऐसा नहीं होता तो कभी भी ऐसे ऊल-जुलूल बयानों के लिये सीएम ने माफ़ी नहीं मांगी है, न ही बयानों से खुद को अलग किया है। क्या इससे यह साबित नहीं होता कि अपने सहयोगी मंत्री के बेहद आपत्तिजनक बयान से बघेल सहमत हैं? यदि सहमत नहीं हैं तो कवासी लखमा को देश के प्रधानमंत्री के प्रति बेहद घटिया टिप्पणी करने पर तत्काल मंत्रिमंडल से बर्खास्त कर बस्तर के किसी अन्य आदिवासी जनप्रतिनिधि को छत्तीसगढ़ की सेवा करने का अवसर दें। श्री केदार कश्यप ने कहा कि़ दरअसल मुख्यमंत्री भूपेश बघेल मंत्री कवासी लखमा के कंधे पर बंदूक रखकर राजनीति कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि भूपेश बघेल ने भ्राजनीतिक दुर्भावना के लिए इस्तेमाल करने के इरादे से ही लखमा को मंत्रिमंडल में शामिल किया है। वे जानते हैं कि कवासी लखमा से कुछ भी कहलवाया जा सकता है। प्रवक्ता व पूर्व मंत्री केदार कश्यप ने कहा कि़ मंत्रिमंडल के सदस्य सरकार का चेहरा होते हैं। मंत्री का बयान सीधे तौर पर सरकार का बयान माना जाता है। भूपेश बघेल को जवाब देना चाहिये कि कांग्रेस का राजनीतिक इष्ट खानदान क्या बस्तर की पावन माटी का महज़ बाथरूम समझता है?