मोदी सरकार का लागत में 50% लाभ का दावा एक और झांसा…

मोदी सरकार का लागत में 50% लाभ का दावा एक और झांसा…
RO No.12784/129

RO No.12784/129

RO No.12784/129

नईदिल्ली । पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस नियामक बोर्ड (पीएनजीआरबी) ने देश के सात राज्यों के 12 भौगोलिक क्षेत्रों में मेघा इंजीनियरिंग एंड इंफ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड (एमईआईएल) में सिटी गैस विरतण (सीडीजी) का ठेका दिया है।बोर्ड ने कल 52 क्षेत्रों के लिए बोलियों को अंतिम रूप दिया जिसमें से 12 भौगोलिक क्षेत्र एमईआईएल को आवंटित किए गये हैं। पीएनजीआरबी ने 11वें दौर की बोली के तहत पूरे भारत में 65 भौगोलिक क्षेत्रों (जीए) में सिटी गैस डिस्ट्रीब्यूशन (सीजीडी) परियोजनाओं के लिए बोलियां मांगी थीं। परिणाम केवल 52 जीए के संबंध में घोषित किए गए थे। पांच राज्यों में चुनाव संहिता के कारण शेष जीए के परिणाम रोक दिए गए है।वास्तव में, बोली प्रक्रिया के तुरंत बाद, एमईआईएल 15 जीए प्राप्त करने वाले शीर्ष बोलीदाता के रूप में उभरा। एमईआईएल ने 61 में से 43 जीए (भौगोलिक क्षेत्रों) के लिए जीत हासिल की थी। एमईआईएल को आवंटित मध्य प्रदेश, राजस्थान, महाराष्ट्र, ओडिशा, तमिलनाडु, कर्नाटक और तेलंगाना में गैस आपूर्ति का ठेका मिला है। इस सिटी गैस डिस्ट्रीब्यूशन (सीजीडी) परियोजना के तहत कंपनियों या एजेंसियों को सिटी गेट स्टेशन / मदर स्टेशन बनाने, मुख्य पाइपलाइन और डिस्ट्रीब्यूटरी पाइपलाइन और सीएनजी स्टेशन बनाने की आवश्यकता है।सीजीडी का उद्देश्य घरों और उद्योगों के लिए हरित ईंधन - पाइप्ड प्राकृतिक गैस (पीएनजी) को बढ़ावा देना है। संपीडि़त प्राकृतिक गैस (सीएनजी) का उपयोग वाहनों और ऑटोमोबाइल उद्योग के लिए ईंधन के रूप में किया जाता है।