छत्तीसगढ़ को उत्पादक भी बनना है और उपभोक्ता भी: भूपेश बघेल

छत्तीसगढ़ को उत्पादक भी बनना है और उपभोक्ता भी:  भूपेश बघेल
RO No.12822/158

RO No.12822/158

RO No.12822/158

-आदिवासी समाज के बेहतरी के कार्यों के लिए मुख्यमंत्री का आभार जताया
दक्षिणापथ, रायपुर।
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से आज यहां उनके निवास कार्यालय में छत्तीसगढ़ सर्व आदिवासी समाज के प्रतिनिधि मंडल ने मुलाकात की। प्रतिनिधि मंडल ने आदिवासी समाज के लोगों को प्रतिनिधित्व का अवसर तथा समाज की बेहतरी के लिए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में किए जा रहे कार्यों के लिए उनका आभार जताया। सर्व आदिवासी समाज के प्रतिनिधि मंडल ने इस मौके पर मुख्यमंत्री को ज्ञापन सौंपते हुए जशपुर जिले के कांसाबेल तहसील के ग्राम टांगरगांव में स्टील प्लांट स्थापना पर रोक लगाए जाने का आग्रह किया। प्रतिनिधि मंडल ने अनुकंपा नियुक्ति के प्रावधान को शिथिल कर पीड़ित परिवारों के वारिसान को शासकीय सेवा में रखे जाने तथा नरवा, गरूवा, घुरवा, बाड़ी कार्यक्रम के माध्यम से ग्रामीण अर्थव्यवस्था को गति देने, राज्य में आर्गेनिक खेती को बढ़ावा देने के लिए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के प्रयासों की भी सराहना की।
मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने कहा कि समाज के सभी वर्ग के लोगों को तरक्की का अवसर उपलब्ध कराने के लिए छत्तीसगढ़ सरकार काम कर रही है। उन्होंने कहा कि लघु वनोपज की समर्थन मूल्य पर खरीदी, किसानों की ऋणमाफी, राजीव गांधी किसान न्याय योजना, गोधन न्याय योजना से राज्य के सभी अंचल विशेषकर आदिवासी अंचल में लोगों की आर्थिक स्थिति में बदलाव आया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि आर्थिक स्थिति बेहतर होने से आदिवासी अंचल में ट्रैक्टर, मोटरसायकिल एवं अन्य वाहनों की बिक्री में बढ़ोत्तरी हुई है। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य के आदिवासी समाज के लोग शासकीय योजना एवं कार्यक्रम का लाभ उठाकर आर्थिक समृद्धि की ओर अग्रसर हो रहे हैं। मुख्यमंत्री ने आदिवासी अंचल में देवगुढ़ी एवं घोटुल के विकास के लिए सरकार द्वारा किए जा रहे प्रयासों की भी जानकारी दी। इस अवसर पर भारत सिंह, मदनलाल कोर्पे, डीएस आतराम, श्रीमती वंदना उईके, कुंदन सिंह ठाकुर, डॉ. शंकरलाल उईके, विक्रम सिंह लकड़ा, आनंद टोप्पो सहित अन्य पदाधिकारी उपस्थित थे।