धमधा में कैसे बचेगी कांग्रेस की कुर्सी..

धमधा में कैसे बचेगी कांग्रेस की कुर्सी..
RO No.12784/129

RO No.12784/129

RO No.12784/129

 दुर्ग। कांग्रेस की भूपेश सरकार जाने के साथ राज्य के ऐसे नगरीय निकाय जहां कांग्रेस का कब्जा है, अविश्वास प्रस्ताव का खतरा मंडराने लगा है । दुर्ग जिले के धमधा नगर पंचायत में कांग्रेस के खिलाफ भाजपा ने अविश्वास प्रस्ताव लाया है। 7 मार्च को प्रस्ताव पर फाइनल निर्णय होना है। कांग्रेस ने प्रदेश महामंत्री राजेंद्र साहू को पर्यवेक्षक बनाया है तो भाजपा ने प्रस्ताव पास कराने की जिम्मेदारी विधायक व भाजपा के जिला महामंत्री ललित चंद्राकर को जिम्मेदारी दी है। लोकसभा चुनाव के पहले धमधा नगर पंचायत के अविश्वास प्रस्ताव को महत्वपूर्ण माना जा रहा है। अविश्वास प्रस्ताव यदि सफल हो जाता है तो कांग्रेस का एक और किला ढह जायेगा।  चुनाव पूर्व भाजपा और कांग्रेस के बीच नूराकुश्ती के तौर पर 7 मार्च के परिणाम पर सियासी प्रेक्षको की नजर है। 


धमधा नगर पंचायत में कांग्रेस का कब्जा है। विधानसभा चुनाव के बाद से ही धमधा नगर पंचायत में सत्ता बदलने के उपक्रम भाजपाई कर रहे थे। तमाम प्रयासों के परिणीति स्वरूप  अब 7 मार्च की तिथि को भाजपा अविश्वास प्रस्ताव लाने जा रही है। कांग्रेस इसे ध्वस्त करने में जी जान लगा दी है। किंतु भाजपा हर हाल में प्रस्ताव पास कर कांग्रेस को पटकनी देने की तैयारी में है। धमधा नगर पंचायत के अविश्वास प्रस्ताव पर पूर्व मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से लेकर भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष किरण सिंह देव जैसे बड़े नेता नजर रख रहे हैं।