यूरिया की किल्लत ने बढ़ा दी किसानों की परेशानी

यूरिया की किल्लत ने बढ़ा दी किसानों की परेशानी
Ro No. 12294/64

Ro No. 12276/69

Ro No. 12276/69
Ro No. 12294/64

Ro No. 12276/69

Ro No. 12276/69
Ro No. 12294/64

Ro No. 12276/69

Ro No. 12276/69

दक्षिणापथ, दुर्ग। जिले में आज चिन्हांकित पांच टीकाकरण सत्रों में कोविड-19 से कुल 312 में से जिला चिकित्सालय दुर्ग में 71, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पाटन में 85, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र बैकुंठधाम में 70, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र नगपुरा में 68 एवं श्री शंकराचार्य मेडिकल कॉलेज जूनवानी में 20 लाभार्थियों को टीकाकृत किया गया। टीकाकरण का प्रारंभ प्रातः 11 बजे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संबोधन समाप्त होने के उपरांत जिला चिकित्सालय दुर्ग के टीकाकरण में सर्वप्रथम डॉ. सुगम सावंत को टीकाकृत किया गया।पहला टीका जब लगा तब दुर्ग शहर विधायक अरुण वोरा, दुर्ग महापौर धीरज बाकलीवाल, कोविड-19 टीकाकरण के नोडल अधिकारी सुश्री दिव्या वैष्णव मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. गंभीर सिंह ठाकुर, जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ. सुदामा चंद्राकर, सिविल सर्जन डॉ. पी.बालकिशोर एवं जिले के समस्त अधिकारी एवं कर्मचारी उमंग के साथ उपस्थित थे।

पांचो टीकाकरण सत्र का निरीक्षण जिला कलेक्टर डॉ. सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे के निर्देशानुसार डिप्टी कलेक्टर सुश्री दिव्या वैष्णव, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. गंभीर सिंह ठाकुर, जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ. सुदामा चंद्राकर, जिला कार्यक्रम अधिकारी डॉ. आर. के. खंडेलवाल, जिला मलेरिया अधिकारी डॉ. सीबीएस बंजारे, जिला कार्यक्रम अधिकारी डॉ. अनिल शुक्ला, जिला कार्यक्रम प्रबंधक सुश्री पीयूली मजूमदार, डॉ. रश्मि भोसले, डॉ. प्रज्ञा रामटेके आरएमएनसीएच, डॉ.सोनल सिंह, डॉ.मोईत्रि मजूदमदार कंसलटेंट के द्वारा किया गया। इस दौरान वैक्सीन के प्रोटोकॉल का पालन किया गया किसी भी तरह की स्थिति से निपटने के लिए समस्त संस्थाओं ने पूरी तरह तैयारी की गई थी। प्रत्येक हितग्राहियों को आधा घंटे के लिए ऑब्जर्वेशन में रखा गया था। किसी भी हितग्राही में वैक्सीन का विपरीत प्रभाव नहीं देखा गया। सामाजिक दूरी बनाते हुए कार्य का संपादन किया गया।