कांग्रेस के विजय देवांगन बने महापौर, अनुराग मसीह को मिली सभापति की कुर्सी

धमतरी. धमतरी नगर निगम में भी कांग्रेस को अपनी सत्ता स्थापित करने में कामयाबी मिली है. सोमवार को यहां महापौर और सभापति पद के लिए चुनाव हुए, जिसमें दोनों महत्वपूर्ण पदों पर कांगे्रस के पार्षदों ने जीत दर्ज की है. कांग्रेस के विजय देवांगन को महापौर चुनाव में 22 वोट मिले जबकि भाजपा के धनीराम सोनकर को 18 वोट हासिल हुए. इस तरह विजय देवांगन शहर दूसरे महापौर बने हैं. विजय देवांगन इस नगरीय निकाय चुनाव में कांग्रेस की ओर से सुभाष नगर वार्ड क्रमांक दो से पार्षद बने हैं. उन्होंने लगभग 750 वोट के अंतर से यह जीत दर्ज की थी. विजय इससे पहले साल 1994 में धमतरी नगर पालिका में पार्षद और नेता प्रतिपक्ष रहे हैं. यह वर्तमान में जिला कांग्रेस के महामंत्री हैं.

धमतरी नगर निगम में कुल 40 वार्ड हैं. इस चुनाव में कांग्रेस को 18 वार्डों में जीत हासिल हुई थी, जबकि भाजपा के 17 पार्षद यहां चुनकर आए हैं. निगम में पांच निर्दलीय प्रतिनिधि पार्षद बने हैं. इस तरह से महापौर चुनाव में दोनों पार्टियों के बीच कांटे का मुकाबला था.

यहां क्रॉस वोटिंग की आशंका भी शुरू से नजर आ रही थी, जिसे देखते हुए दोनों पार्टियां काफी सतर्कता बरत रही थीं. भाजपा ने अंतिम दौर तक निगम में अपने पार्षद को महापौर बनाने के लिए प्रयास जारी रखा, लेकिन वे इसमें सफल नहीं हो सके.

सभापति चुनाव में कांगे्रस के अनुराग मसीह को 25 वोट मिले. दूसरी तरफ भाजपा के पिछले कार्यकाल के सभापति राजेन्द्र शर्मा को 15 वोट हासिल हुए. इस तरह नगर निगम में महापौर और सभापति, दोनों महत्वपूर्ण पदों पर कांग्रेस अपने प्रतिनिधियों को बैठाने में कामयाब रही है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!