दिल्ली के बाजार खुलेंगे या बंद रहेंगे व्यापारी आज लेंगे निर्णय

दिल्ली में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) ने शुक्रवार को व्यापारियों के बीच ऑनलाइन सर्वे कराया। ऑनलाइन सर्वे में 92 फीसदी से अधिक व्यापारियों ने माना कि दिल्ली में बाजार खोलने की वजह से कोरोना संक्रमण के मामलों में बढ़ोतरी हुई है। दिल्ली में बाजार बंदी को लेकर कैट रविवार को फैसला करेगा।

इसे लेकर 96 फीसदी व्यापारियों ने चिंता जताई है। वहीं, 88 फीसदी से अधिक व्यापरियों ने ग्राहकों, व्यापारियों और कर्मचारियों को बचाने के लिए मौजूदा हालतों में बाजार बंदी पर सहमति जताई है।

बाजार बंदी को लेकर बैठक का आयोजन : दिल्ली में बाजार बंदी को लेकर कैट ने दिल्ली के सभी व्यापारिक संगठनों और नेताओं के साथ ऑनलाइन बैठक आयोजित की है। कैट के दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष विपिन आहूजा के अनुसार, बैठक में बंदी पर अंतिम निर्णय लिया जाएगा। बैठक में सर्वे की रिपोर्ट भी रखी जाएगी। वहीं, कैट के राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीन खंडेलवाल ने कहा कि प्रतिदिन दुकानों पर अनजान लोग सामान खरीदने आते हैं और व्यापारियों के तमाम सुरक्षा उपायों के बावजूद संक्रमण का खतरा बना रहता है।

गृहमंत्री-मुख्यमंत्री से समय मांगा

सर्वे के नतीजों के आधार पर बाजार बंदी के किसी भी तरह के फैसले से पहले कैट ने गृहमंत्री, मुख्यमंत्री समेत उपराज्यपाल से मुलाकात के लिए पत्र लिखकर समय मांगा है। कैट के राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीन खंडेलवाल ने कहा कि जिस तरह के हालत दिल्ली में बने हैं और जिस प्रकार से सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली में चिकित्सा सुविधाओं पर टिप्पणी की है, वह दिल्ली की हालत को सही रूप में दर्शाता है। चूंकि व्यापारी दुकान खोल कर बैठे हैं, इससे वह और उनके कर्मचारी आसानी से कोरोना का शिकार हो सकते हैं।

error: Content is protected !!