यूएन में भारतीय मिशन विशेष ‘योग मॉड्यल’ के द्वारा मनाएगा अंतरराष्ट्रीय योग दिवस

जिनेवा । वैश्विक महामारी कोरोना संकट में दुनिया के लोग अवसाद, तनाव, और घबराहट का सामना कर रहे है ऐसे में योग की महत्ता को पहचानने हुए संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी मिशन ने इस साल अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाने के लिए व्यायाम, प्रणायाम और ध्यान के लिए विशेष ‘योग मॉड्यूल’ विकसित किया है। कोरोना वायरस संक्रमण के कारण प्रतिबंध लागू होने और सामाजिक दूरी की आवश्यकता के मद्देनजर छठा अंतरराष्ट्रीय योग दिवस इस साल डिजिटल माध्यमों से मनाया जाएगा। संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी मिशन ने बताया कि मिशन ऐसे समय में 19 जून को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाएगा, जब कोरोना वायरस के वैश्विक स्तर पर संक्रमण के कारण दुनिया भर के लोग प्रभावित हुए हैं। मिशन ने योग गुरुओं के साथ मिलकर अंतराष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर ‘स्वास्थ्य के लिए योग-घर पर योग’ नामक विशेष योग मॉड्यूल बनाया है। मिशन ने बताया कि इन मॉड्यूल में वैज्ञानिक आधार पर उन सुरक्षित योगाभ्यासों एवं योग मुद्राओं को शामिल किया गया है जिनका अभ्यास हर आयु वर्ग के लोग घर पर कर सकते हैं। इस मॉड्यूल में योगाभ्यासों, प्राणायाम और ध्यान को शामिल किया गया है। यह मॉड्यूल शारीरिक, मानसिक, भावनात्मक एवं धार्मिक रूप से लोगों को लाभ पहुंचाएगा। इसे विभिन्न डिजिटल मंचों पर 19 जून को वेबकास्ट किया जाएगा। मॉड्यूल में सद्गुरु जग्गी वासुदेव का ‘श्वसन प्रणाली के स्वास्थ्य के लिए योग’ विषय पर सत्र शामिल होगा। इसके अलावा भक्ति केंद्र के योग गुरु किशोर चंद्र और योग आचार्य स्वामी शिवदासनंद के सत्र भी होंगे।

error: Content is protected !!