कोरोना प्रकोप : फिर से बंद किया जा सकता है जामा मस्जिद, लोगों से मांगी राय

नई दिल्‍ली । देश की राजधानी दिल्ली में कोरोना वायरस का संक्रमण लगातार बढ़ता जा रहा है और यहां अब तक 31 हजार से ज्यादा लोग संक्रमित हो चुके हैं। दिल्ली में इस महामारी के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए जामा मस्जिद को फिर से बंद किया जा सकता है। बता दें कि 8 जून को ही देशभर के धार्मिक स्थलों को खोलने की अनुमति मिली थी, जिसके बाद जामा मस्जिद को करीब ढाई महीने बाद खोला गया था।

जामा मस्जिद के शाही इमाम सैयद अहमद बुखारी के सचिव अमानुल्ला की मंगलवार रात दिल्ली सफदरजंग अस्पताल में कोरोना वायरस के कारण मौत हो गई। इसके बाद जामा मस्जिद के शाही इमाम सैयद अहमद बुखारी ने बुधवार को कहा, “कोविड‑19 वैश्विक महामारी के कारण दिल्ली में बिगड़ते हालात को देखते हुए जामा मस्जिद को फिर से बंद किया जा सकता है।”

उन्होंने कहा, “वह (अमानुल्ला) संक्रमित पाए गए थे और तीन जून को उन्हें सफदरजंग अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां कल (मंगलवार) उन्होंने अंतिम सांस ली।”

लोगों से मांगी गई है जामा मस्जिद बंद करने की राय
सैयद अहमद बुखारी ने कहा, “दिल्ली में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए मस्जिद को बंद किया जा सकता है। इसके लिए लोगों की राय मांगी गई है। लोग सोशल मीडिया और अन्य माध्यमों के जरिए जामा मस्जिद बंद करने पर अपनी राय दे रहे हैं। हम एक या दो दिन में लोगों के लिए इसे फिर से बंद कर सकते हैं और नमाज पढ़ने के लोगों की संख्या को सीमित कर सकते हैं।”

छोटी मस्जिद भी करें लोगों से घर में रहने की अपील
शाही इमाम ने कहा, “मैंने अन्य छोटी मस्जिदों से भी लोगों से घरों में रहने और मस्जिदों के बजाय घर में ही नमाज अदा करने की अपील करने के लिए कहा है। ऐसे वक्त में मस्जिदों में जाना सही नहीं है जब दिल्ली में कोरोना वायरस के मामले चरम पर हैं, जबकि हमने लॉकडाउन के कारण रमजान के दौरान और ईद पर भी ऐसा नहीं किया था।”

दिल्ली में कोरोना वायरस की चपेट में 31 हजार से ज्यादा लोग
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार दिल्ली में अब तक 31309 लोग कोरोना वायरस की चपेट में आ चुके हैं, जिसमें से 905 लोग इस महामारी से अपनी जीन गंवा चुके हैं। दिल्ली में कोविड‑19 से अब तक 11861 लोग ठीक हुए हैं और 18543 एक्टिव केस मौजूद हैं।

error: Content is protected !!