ऑनलॉक‑1 में खुले देशभर के धार्मिक स्थल, दिल्ली से द्वारकाधीश तक उमड़े श्रद्धालु

नई दिल्ली । कोरोना (कोविड‑19) महामारी की वजह से देश में चार चरणों के लॉकडाउन के बाद सोमवार को केंद्र सरकार द्वारा घोषित अनलॉक‑1 के प्रथम चरण के पहले दिन देश भर के धार्मिक स्थल सोमवार को फिर से खोले दिए गए हैं। धार्मिक स्थलों के खुलते ही दिल्ली से द्वारकाधीश तक श्रद्धालु मंदिरों में उनके दर्शनों को उमड़ पड़े।

राजधानी दिल्ली में चांदनी चौक स्थित गौरी शंकर मंदिर में प्रार्थना करने के लिए आज बड़ी संख्या में लोग इकट्ठा हुए। राष्ट्रीय राजधानी में कोरोना वायरस के मामलों में वृद्धि के साथ, भक्तों को मास्क पहने और सावधानी बरतते देखा गया। कालकाजी मंदिर में भी लोग पूजा-अर्चना करते देखे गए। श्री बंगला साहिब गुरुद्वारा में कई लोग पूजा अर्चना करने पहुंचे। वायरस को रोकने के लिए गुरुद्वारे में प्रवेश करने से पहले भक्तों को कीटाणुनाशक सुरंग से गुजरना पड़ा।

उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गोरखनाथ मंदिर में पूजा-अर्चना की। उसके बाद राज्य सरकार ने आज से पूजा स्थलों को फिर से खोलने की अनुमति दे दी है। अयोध्या में हनुमान गढ़ी मंदिर भी सोमवार को फिर से खोल दिया गया।

देश के सबसे धनी मंदिर तिरुपति बालाजी में पहले दिन सिर्फ कर्मचारियों और स्थानीय लोगों को दर्शन की अनुमति मिली। आगामी 11 जून से यह सभी के लिए खुल जाएगा। गुजरात के द्वारका में द्वारकाधीश मंदिर में भी लोग प्रार्थना करने पहुंचे। मंदिर के बाहर सुबह से ही श्रद्धालुओं की लंबी कतारें दिखी गईं।

मध्य प्रदेश के उज्जैन में महाकाल मंदिर को सोमवार को श्रद्धालुओं के लिए खोल दिया गया। पहले दिन बाबा के दर्शन के लिए लोगों में उत्साह देखा गया। हालांकि भोपाल में में कोरोना का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है। 24 घंटे में राज्य में 24 लोगों की मौत हुई है। इस वजह से धर्मस्थल खोलने की अनुमति नहीं दी गई है।

गुजरात के अहमदाबाद में इस्कॉन मंदिर भी खोल दिया गया है। हालांकि प्रशासन ने बताया कि हमारे मंदिर के कुल चार गेट हैं, जिसमें से सिर्फ दो गेट ही खोले गए हैं। टोकन के हिसाब से 25 लोग ही अंदर आ सकते हैं। अगर टोकन खत्म हो जाता है तो बाकी के लोग अपनी बारी का इंतजार करते हैं।

पंजाब के अमृतसर में हरमिंदर साहिब (स्वर्ण मंदिर) को भी श्रद्धालुओं के लिए खोल दिया गया है। सोमवार को शारीरिक दूरी व अन्य दिशा-निर्देशों का पालन करते हुए यहां लोगों ने दर्शन किए। कर्नाटक के बंगलुरु में बासावानागुड़ी के श्री डोडा गणपति मंदिर के बाहर भी श्रद्धालुओं की कतारें दिखीं। गृह मंत्रालय के दिशा-निर्देशों के अनुसार कर्नाटक में भी धार्मिक स्थल खोल दिए गए हैं।

असम में भी सोमवार से धार्मिक स्थल खुल गए। इस दौरान लोग दिशा-निर्देशों का पालन करते हुए पूजा-अर्चना करने पहुंचे। जहां श्रद्धालुओं को प्रवेश करने से पहले थर्मल स्कैनिंग से गुजरना पड़ा।

केंद्रीय गृह मंत्रालय के दिशा-निर्देश के बावजूद ओडिशा में सभी धार्मिक स्थलों को बंद रखा गया है। यहां 30 जून तक यह आदेश जारी रहेगा। भुवनेश्वर के लिंगराज और राम मंदिर सोमवार को भी बंद रहे।

बंगलुरु के शिवाजी नगर स्थित सेंट मैरी चर्च में भी लोगों ने आज सुबह प्रार्थना की। इस दौरान लोग सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते दिखे।

उत्तर प्रदेश के लखनऊ में ईदगाह मस्जिद में लोगों ने नमाज अदा की। हालांकि इस दौरान किसी अन्य चीज को छूने की सख्त मनाही के नियम का पालन किया गया।

error: Content is protected !!