डीसीबी बैंक का मुनाफा मार्च तिमाही में 28 प्रतिशत गिरा

डीसीबी बैंक का मुनाफा मार्च तिमाही में 28 प्रतिशत गिरा

Ro No. 12111/89

Ro No. 12111/89

Ro No. 12111/89

दक्षिणापथ, दुर्ग। कमजोर आय वर्ग के छात्रों को प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के लिए निशुल्क आवासीय कोचिंग सुविधा देने की योजना की दुर्ग जिले में शीघ्र मंजूरी दी जाएगी। पिछले साल डीएमएफ फंड से कबीरधाम सहित कई जिलों में पहल योजना शुरू करने की मंजूरी दी जा चुकी है। निशुल्क आवासीय कोचिंग सुविधा मिलने पर पहले ही साल में कबीरधाम जिले में छात्र-छात्राओं ने जेईई मेन में सफलता के झंडे भी गाड़ दिए हैं लेकिन दुर्ग जिले में अभी तक योजना शुरू नहीं हो पाई है। विधायक अरुण वोरा ने बताया कि निशुल्क आवासीय कोचिंग संस्थान की सुविधा के लिए डीएमएफ से 50 लाख रुपए की मांग की गई है। जिले के प्रभारी मंत्री मोहम्मद अकबर ने शीघ्र ही इस योजना के लिए फंड स्वीकृत करने आश्वस्त किया है। फंड स्वीकृत होते ही निशुल्क आवासीय कोचिंग की व्यवस्था शुरू होगी। वोरा ने बताया कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की मंशा के अनुरूप इस योजना का क्रियान्वयन दुर्ग में भी शीघ्र शुरू किया जाएगा। आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के प्रतिभावान छात्रों को बेहतर कोचिंग सुविधा देकर उनका कैरियर संवारा जा सकता है। निशुल्क आवासीय कोचिंग योजना शुरू होने से प्रतिभाशाली छात्रों को जाइंट एंट्रेंस एक्जाम, नीट जैसी परीक्षाओं में बेहतर तैयारी करने की सुविधा मिलेगी।