एयर इंडिया की फ्लाइट में दस दिनों तक तीनों सीटों पर बैठ सकेंगे यात्री, सुप्रीम कोर्ट ने दी मंजूरी

नई दिल्ली । सुप्रीम कोर्ट ने एयर इंडिया को अगले दस दिनों तक कोरोना महामारी के दौरान एयरक्राफ्ट में तीनों सीटों पर यात्रियों को बैठाने की मंजूरी दे दी है। चीफ जस्टिस एसए बोब्डे की अध्यक्षता वाली बेंच ने वीडियो कांफ्रेसिंग के जरिये हुई सुनवाई करते हुए केंद्र सरकार को फटकार लगाते हुए कहा कि आपको केवल अपने एयर इंडिया की चिंता है, आपको अपने लोगों यानि देश की जनता की सेहत की चिंता होनी चाहिए।

सुनवाई के दौरान सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने कहा कि बांबे हाई कोर्ट ने जो आदेश दिया है वो 18 मार्च के सर्कुलर के आधार पर था। तब कोर्ट ने कहा कि वही सर्कुलर अंतरराष्ट्रीय उड़ान के लिए लागू है। कोर्ट ने मेहता से पूछा कि क्या आपने सर्कुलर पढ़ा है। तब मेहता ने कहा कि सर्कुलर केवल घरेलू उड़ान पर लागू होता है। कोर्ट ने कहा कि ये सर्कुलर एयरपोर्ट और एयरलाइंस पर लागू होता है। तब मेहता ने कहा कि 23 मार्च को भारत ने सभी अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर रोक लगा दिया था। तब कोर्ट ने कहा कि 23 मार्च का सर्कुलर घरेलू उड़ान पर जबकि 25 मार्च का सर्कुलर अंतरराष्ट्रीय उड़ान पर लागू होता है। तुषार मेहता ने कहा कि 4 मई को चिकित्सा विशेषज्ञों और उड्डयन विशेषज्ञों की बैठक हुई थी। उन्होंने कहा कि बीच वाली सीट खाली छोड़ने से किसी मसले का हल नहीं होगा। तब चीफ जस्टिस ने कहा कि केंद्र सरकार को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करवाना चाहिए। कंधे से कंधा लगाकर बैठना खतरनाक है। कोर्ट ने कहा कि ये एक कॉमन सेंस है कि सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना जरूरी है।

error: Content is protected !!