दिल्ली से सफर कर कोरबा पहुंचा 25 साल का छात्र कोरोना पॉजिटिव, अब होगी कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग

कोरबा. कोरबा (Korba) में एक बार फिर करीब एक महीने बाद कोरोना पॉजिटिव (COVID-19) केस सामने आया है. छत्तीसगढ़ में कोरोना का हॉटस्पॉट (Hot Spot) बनने कटघोरा में एक के बाद एक मामले सामने से आने से जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप मच गया था. अब फिर कोरोना का एक पॉजिटिव केस आने से प्रशासन अलर्ट मोड पर आ गई है. बताया जा रहा है 13 मई को 25 साल का युवक दिल्ली से सफर कर कोरबा लौटा था. यहां से उसे ट्रांसपोर्ट नगर के एक निजी होटल में बने क्वारंटाइन सेंटर में 14 दिनों के क्वारंटीन किया गया था.

छात्र का टेस्टिंग सैंपल लेकर रायपुर एम्स भेजा गया था जिसकी रिपोर्ट अब पॉजिटिव आई है. कोरोना की पुष्टि होने के बाद आने से प्रशासन में एक बार फिर हरकत में आ गया है. कोरोना संक्रमित युवक को बिलासपुर कोविड सेंटर भेज दिया गया है. कलेक्टर किरण कौशल, सीएमएचओ डॉ. बीबी बोडे भी क्वारंटीन सेंटर पहुंच और व्यवस्थाएं देखी.

पेड क्वारंटाइन सेंटर भेजा गया
कलेक्टर किरण कौशल ने इस पेड क्वारंटाइन सेंटर में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए किए गए इंतजामों और व्यवस्थाओं का जायजा लिया. इस होटल में दिल्ली से 13 तारीख को ही आए अन्य 18 लोगों को भी क्वारंटीन कर रखा गया है. अब प्रशासन ने संक्रमित छात्र की संपर्क हिस्ट्री ट्रेस करने का काम भी शुरू कर दिया गया है. पूरे होटल को सैनिटाइज किया गया है. होटल में काम करने वाले स्टाफ को बाहर नहीं जाने और सभी जरूरी जांच कराने के निर्देश कलेक्टर ने मुख्य चिकित्सा और स्वास्थ्य अधिकारी को दिए हैं.

अब तक 29 मामले
कोरबा में अब कोरोना के 29 मामले आ चुके हैं,जिसमें 27 कटघोरा से थे जो जमात से ताल्लुक रखते हैं. एक कोरबा शहर में लंदन से लौटे छात्र का रिपोर्ट पॉजिटिव आया था. सभी 28 संक्रमितों का उपचार रायपुर एम्स में किया गया. स्वस्थ्य होने के बाद सभी डिस्चार्ज हो चुके हैं. कलेक्टर किरण कौशल ने मिडिया से बातचीत में बताया की पेड़ क्वारंटाइन सेंटर में कुल 19 लोग अलग-अलग कमरे में क्वारंटीन कर रखा गया है. सेंटर में सभी प्रोटोकॉल का पालन किया गया है. कम्युनिटी स्प्रेड जैसे कोई बात नहीं है. एहतियातन कन्टेनमेंट एरिया बनाया जा रहा है.

error: Content is protected !!