शादी की पहली सालगिरह पर वरुण धवन ने शेयर की खास तस्वीरें

शादी की पहली सालगिरह पर वरुण धवन ने शेयर की खास तस्वीरें

Ro No. 12027-89

Ro No. 12027-89

Ro No. 12027-89


-सब्जी मार्केट बंद करवाने पुलिस को बरतनी पड़ी सख्ती, भीड़ ने सोशल डिस्टेसिंग के नियमों की जमकर उड़ाई धज्जियां
-पूर्ण लॉकडाउन में अस्पताल, मेडिकल, दुध व बैंक को छोड़कर 30 सितंबर तक बंद रहेगी सभी दुकानें
दक्षिणापथ, दुर्ग।
दुर्ग जिले में पूर्ण लॉकडाउन के प्रभावशील होने के एक दिन पहले बुधवार को लोगों में सब्जी-भाजी व पेट्रोल-डीजल खरीदी के लिए अफरातफरी मची रही। लोग सप्ताहभर का पेट्रोल और सब्जी भाजी के इंतजाम के लिए टूट पड़ थेे। पेट्रोल टंकियों में वाहनों की लंबी लाइन लगी और दो गज दूरी का नियम तार-तार हो गया। यही हाल सब्जी बाजार  का भी रहा। लोग एक दूसरे को धक्का देकर सब्जियों की खरीदारी करते नजर आए। हाल यह था कि न ही दुकानदारों ने मॉस्क और सैनिटाइजर का इस्तेमाल करके समान बेचे और न ही ग्राहकों ने तीन गज की दूरी का पालन किया। भीड़भाड़ का सब्जी व्यवसाईयों ने जमकर फायदा उठाया। अधिकांश सब्जियों की खरीदी के लिए ग्राहकों को पूर्व की तुलना में 5-10 रुपए ज्यादा देने पड़े। ये सब्जी बाजार लॉकडाउन में मिले छुट के निर्धारित समय से ज्यादा देर तक खुले रहे। सब्जी बाजारों को बंद करवाने कई जगहों में जिला प्रशासन व निगम प्रशासन को पुलिस की मदद भी लेनी पड़ी। बुधवार को सिविल लाइन महिला समृद्धि सब्जी बाजार, शनिचरी बाजार, सुपेला, पावर हाउस, रिसाली, मरोदा, खुर्सीपार, भिलाई तीन, चरोदा, उतई,पाटन,धमधा सहित जिले के गांवों में लगने वाली सब्जी बाजार और पेट्रोल पंपों में लोगों की जमकर भीड़ उमड़ी। जिला प्रशासन ने 24 से 30 सितंबर तक पूर्ण लॉकडाउन की घोषणा की है। इस भीड़भाड़ का इसके असर के रुप में देखा जा रहा है।


बाजारों में मनमाने दाम पर बिकी सब्जियाँ
पूर्ण लॉकडाउन की खबर के बाद बाजारों में सब्जियां मनमाने रेट पर बेची गई। आलू व प्याज एक दिन पहले जहां 30 रुपए किलो तक कीमत में बिक रहे थे, वही बुधवार को 50 रुपए किलो में बिक्री हुई। टमाटर 40 रुपए प्रति किलो से बढ़कर 50 व 60 रुपये पहुंच गया। बरबटी 80 रुपए, भिंडी 80 रुपए, लौकी 40 रुपए, परवल 60 रुपए, खेखसी 150 रुपए प्रति किलो, पत्ता गोभी 60 रुपए, कुंदरू 40 रुपए प्रति किलो बिका। व्यापारियों ने स्टाक कम होने का हवाला देकर दाम बढ़ाया है। सुपेला मार्केट फरीदनगर से करीब है। यहां सब्जी मार्केट में खासी भीड़ जमा रही। लोग एक दूसरे के बेहद करीब खड़े होकर खरीदी करते नजर आए। सब्जियों को एक साथ कई लोग हाथ लगा रहे थे। इस दौरान सैनिटाइजर का इस्तेमाल करते कोई ग्राहक नहीं दिखाई दिया, न ही दुकानदार सैनिटाइज करते नजर आए। पावरहाउस मार्केट में सब्जी दुकानों में लोग अलसुबह से ही पहुंच गए। इतनी बड़े मार्केट में सुबह 9 बजे ही कई सब्जियां बिक गई। टमाटर, भिंडी, बरबटी जैसी सब्जी गिनती के विक्रेताओं के पास बचे मिले। वाहनों को बेतरतीब तरीके से खड़ी कर सब्जी लेने की जल्दी मची थी। यहां लोग जैसे-चाहे वैसे खड़े होकर सब्जियां खरीदी। सिविल लाइन स्थित महिला समृद्धि सब्जी मार्केट में लोग सुबह से ही खरीदी करने पहुंचे। तंग हाल इस मार्केट में बेहद भीड़-भाड़ थी। दोनों की मार्केट के ठीक सामने सड़क पर जाम लगा था। ट्रैफिक पुलिस होने के बाद भी स्थिति संभल नहीं रही थी। दस बजे के बाद भी दुकानें खुली रहीं। पुलिस द्वारा सख्ती कर दुकानें बंद करवाई गई। यही हाल शनिचरी बाजार सब्जी मार्केट और पुरानी गंजमंडी में संचालित सब्जी बाजार का रहा। सब्जी खरीदी के लिए यहा लोगों की जमकर भीड़ उमड़ी।