मुख्यमंत्री ने राष्ट्रीय बालिका दिवस की दी बधाई

मुख्यमंत्री ने राष्ट्रीय बालिका दिवस की दी बधाई

Ro No. 12027-89

Ro No. 12027-89

Ro No. 12027-89

नई दिल्ली । दाऊद इब्राहिम का भतीजा सोहेल कास्कर, जिसे अमेरिका से भारत प्रत्यर्पित किए जाने की संभावना थी, दुबई के रास्ते पाकिस्तान भागने में सफल रहा। सोहेल का पाकिस्तान पहुंचना भारत सरकार द्वार उसे भारत लाने की कोशिशों में एक बड़ा झटका है। सोहेल दाऊद के दिवंगत भाई नूरा का बेटा है। नूरा की मौत 2010 में पाकिस्तान में किडनी फेल होने के कारण हो गई थी। अमेरिकी अधिकारियों ने अक्टूबर 2018 में भारत सरकार को सतर्क किया था कि सोहेल एक भारतीय नागरिक (उसका पासपोर्ट मुंबई से जारी किया गया है) है। उसने अमेरिका में अपनी जेल की अवधि पूरी कर ली है। इसके बाद वह स्वतंत्र है। पुलिस ने कहा कि किसी भी देश में किसी भी अपराध के लिए गिरफ्तार व्यक्ति को उसकी सजा पूरी होने के बाद उसके मूल देश भेज दिया जाता है। भारत और अमेरिका के बीच आपसी कानूनी सहायता संधि के जरिए भारत उसे प्रत्यर्पित करने की कोशिश कर रहा था। सुरक्षा एजेंसियों को हाल ही में खुफिया सूत्रों से पता चला है कि सोहेल पाकिस्तान पहुंच चुका है। सोहेल कासकर को 2014 में तीन अन्य लोगों के साथ अमेरिकी ड्रग एन्फोर्समेंट एडमिनिस्ट्रेशन ने नार्को-टेररिज्म की साजिश रचने, एक विदेशी आतंकवादी संगठन को सामग्री सहायता प्रदान करने के आरोप में गिरफ्तार किया था। अमेरिकी सरकार के अनुरोध पर जून 2014 में तीनों को स्पेन में गिरफ्तार किया गया था। अमेरिका में प्रत्यर्पण के बाद उसे डीईए के न्यूयॉर्क ऑर्गनाइज्ड क्राइम ड्रग एनफोर्समेंट स्ट्राइक फोर्स ने हिरासत में ले लिया। एक पुलिस सूत्र ने कहा, सोहेल इस समय पाकिस्तान में हैं। भारत ने उसे देश तक पहुंचाने की कोशिश की थी, लेकिन वह भागने में सफल रहा। दाऊद ने कथित तौर पर पाकिस्तान में शरण ली है और आईएसआई (पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी) द्वारा भारत विरोधी एजेंडे को आगे बढ़ाने के लिए उसका इस्तेमाल किया जाता है। एक अधिकारी ने कहा कि पाकिस्तान में दाऊद की मौजूदगी और उसे जो सुरक्षा मिलती है, उसके कारण सोहेल ने उस देश को चुना। दाऊद कराची और दुबई के बीच आता-जाता था। लेकिन डी कंपनी के वैश्विक नार्को-आतंक उद्यम में एक महत्वपूर्ण दल के रूप में उभरने के कारण अमेरिका द्वारा उसे वैश्विक आतंकवादी घोषित कर दिया गया। इसके बाद वह कथित तौर पर पाकिस्तान में छिपा बैठा है।