डिजिटल भुगतान 40 प्रतिशत घटा

नई दिल्ली। डिजिटल भुगतान में तेजी को लॉकडाउन ने थाम लिया है। नेशनल पेमेंट कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया (एनपीसीआई) के आंकड़ों के मुताबिक लॉकडाउन के दौरान अप्रैल में डिजिटल भुगतान से होने वाले भुगतान में 40 फीसदी की गिरावट आई है। अप्रैल में आईएमपीएस (इमिडिएट पेमेंट सर्विस) लेनदेन गिरकर 1.21 लाख करोड़ रुपये रह गया। जबकि इस साल मार्च में यह आंकड़ा 2.02 लाख करोड़ रुपये के स्तरक पर था। एनपीसीआई के आंकड़ों के अनुसार अप्रैल में डिजिटल भुगतान से होने वाले लेन-देन की संख्या गिरकर 12.25 करोड़ रह गई, जो मार्च में 21. 7 करोड़ थी। ने इन आंकड़ों को सोशल प्लेटफॉर्म ट्विटर और फेसबुक पर जारी किया है। लॉकडाउन शुरू होने से पहले फरवरी में आईएमपीएस से होने वाले लेन-देन की संख्या 24.8 करोड़ थी।

इस दौरान करीब 2.15 लाख करोड़ रुपये के लेन-देन हुए थे। आईएमपीएस का उपयोग आमतौर पर 50,000 रुपए तक के लेनदेन के लिए किया है। सूत्रों के अनुसार भीम और यूपीआई के जरिए होने वाला लेन-देन मार्च में 2.06 लाख करोड़ रुपये से 26.7 प्रतिशत घटकर 1.51 लाख करोड़ रुपये रह गया। आंकड़ों के मुताबिक भारत बिलपे में दूसरे भुगतान विकल्पों की तुलना में कम गिरावट आई है। अप्रैल में इससे कुल लेन-देन घटकर 1371.17 करोड़ रुपये पर पहुंच गई, जो मार्च में 1953.99 करोड़ थी। लॉकडाउन के दौरान सिर्फ आधार से जुड़े बायोमैट्रिक भुगतान में इजाफा देखने को मिला है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!