अमेरिकी खुफिया एजेंसी का दावा कोरोनो की वैक्सीन के फॉर्मूले पर दुनिया भर साइबर जासूसों की नजर

न्यूयॉर्क। कोरोना ने पूरी दुनिया में कोहराम मचा रखा है। अभी तक कोरोना से 2 लाख 33 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। जबकि बीमारी ने पूरी दुनिया में करीब 32 लाख लोगों को अपनी चपेट में ले लिया है। बीमारी का कोई इलाज नहीं है। इसकारण दुनिया भर के वैज्ञानिक इसकी वैक्सीन बनाने पर काम कर रहे हैं। लेकिन किसी को अभी तक कामयाबी हाथ नहीं लगी है। इस बीच अमेरिका ने दुनिया भर के वैज्ञानिकों को आगाह किया है कि वैक्सीन के फॉर्मूले पर जाजूसों की नजर है। सूत्रों के अनुसार गुप्तचर अधिकारी ने बताया कि कोरोनो की वैक्सीन के फॉर्मूले पर विदेश के साइबर जासूस 24 घंटे नजर रख रहे हैं। नेशनल काउंटरइंटेलिजेंस एंड सिक्योरिटी सेंटर के निदेशक बिल इवानिना के मुताबिक अमेरिकी सरकार ने रिसर्च करने वाली संस्थानों को चौकन्ना रहने के लिए कहा है। हालंकि उन्होंने इस बात की पुष्टि नहीं की है कि क्या अमेरिका में फिलहाल वैक्सीन से जुड़े किसी डेटा की चोरी हुई है या नहीं। ब्रिटेन की सुरक्षा एंजेसियों ने भी माना है कि वैक्सीन की फॉर्मूले पर जासूसों की नजर है। बता दें कि कोरोना की वैक्सीन बनाने के लिए दुनिया भर की सरकारें दिन-रात मेहनत कर रही है। कहा जा रहा है कि वैक्सीन अगले एक साल में आ जाएगी।इसकारण अमेरिकी सरकार भी इस बात का ध्यान रख रही है कि किसी जासूस की नजर इन फॉर्मूलों पर न पड़ जाए। ये साफ है कि जिस देश को वैक्सीन बनाने में सबसे पहले कामयाबी मिलेगी वहां सबसे पहले अपने यहां के नागरिकों को सुरक्षित करेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!