कोरोना पर एक और बयान से पलटे ट्रंप, कहा महामारी को कभी नहीं कहा ‘अफवाह’

वाशिंगटन। अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप कोरोना वायरस को लेकर दिए गए अपने एक और बयान से पलट गए हैं। ट्रंप ने कहा कि उन्‍होंने कभी भी कोरोना वायरस को ‘अफवाह’ नहीं कहा था। उन्‍होंने कहा कि कौन इस तरीके की चीजें कहेगा? ट्रंप ने कहा कि मैंने केवल डेमोक्रैट्स और उनके मीडिया पार्टनर को धोखेबाज कहा था। दरअसल, पिछले महीने ट्रंप ने कोरोना वायरस को डेमोक्रैट्स की ‘अफवाह’ करार दिया था, इसके बाद उनकी जमकर आलोचना हुई थी। राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने ट्वीट कर कहा मैंने कभी नहीं कहा था कि महामारी एक अफवाह है। इस तरह की चीजें कौन कहेगा? मैंने कहा था कि डेमोक्रैट्स अपने मीडिया पार्टनर के साथ मिलकर कुछ नहीं करते हैं और वे फर्जी हैं। इस पर उन्हें बताया गया और शर्मिंदा किया गया। उन्‍होंने यहां तक कि स्वीकार किया कि वे गलत थे, लेकिन झूठ फैलाते रहे।

इससे पहले 28 फरवरी को अपने समर्थकों की एक रैली में ट्रंप ने कहा था हर साल 35 हजार लोग औसतन फ्लू से मर जाते हैं। क्‍या यह कोई जानता है? जी हां 35 हजार लोग। यह काफी अधिक संख्‍या है। और अब तक हमने कोरोना वायरस से अमेरिका में किसी को भी नहीं खोया है। अ‍ब डेमोक्रैट्स इस पूरे मामले को राजनीतिक रूप दे रहे हैं…यह उनकी नई अफवाह है। इस बयान के बाद उनकी काफी आलोचना हुई थी। विपक्षी दलों ने आरोप लगाया था कि ट्रंप ने कोरोना वायरस को बहुत हल्‍के में लिया जिससे अमेरिका की स्थिति बेहद खराब हो गई। 28 फरवरी की स्थिति से उलट अमेरिका में कोरोना वायरस से मरने वालों की तादाद अब 54,256 पहुंच गई है। यही नहीं अमेरिका अब दुनिया में कोरोना वायरस से सबसे ज्‍यादा प्रभावित देश है।

इससे पहले ट्रंप ने कोरोना वायरस के खात्‍मे के लिए रोगाणुनाशक जैसे डेटॉल या लाइजॉल के पीने के बयान पर अपनी सफाई दी थी। उन्‍होंने कहा कि उन्होंने जब डॉक्‍टरों को कोविड-19 के मरीजों के संभावित उपचार के लिए शरीर में टीके से जीवाणुनाशक पहुंचाने या पराबैंगनी किरणों, ताप के प्रयोग पर विचार करने के लिए कहा था तो वह दरअसल ‘व्यंग्य’ में कहा गया था। ट्रंप को अपनी विचित्र और अवास्तविक सलाहों के लिए स्वास्थ्य विशेषज्ञों से झिड़की मिली जिन्होंने लोगों से राष्ट्रपति की ‘खतरनाक’ सलाह को नहीं सुनने की अपील की थी।

चिकित्सकों और लाइजॉल और डेटॉल बनाने वाली कंपनियों ने आगाह किया है कि रोगाणुनाशक का शरीर में प्रवेश खतरनाक है। शुक्रवार को जब ट्रंप से उनकी टिप्प्णी के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा मैं आप जैसे संवाददाताओं से मजाक में सवाल पूछ रहा था बस यह देखने के लिए कि क्या होता है। उन्होंने कहा मैं कक्ष में मौजूद संवाददाताओं से शरीर के भीतर रोगाणुनाशक पहुंचाने के बारे में व्यंग्यात्मक प्रश्न पूछ रहा था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!