गंगरेल जलाशय के पानी से तालाब भरने का काम शुरू : निस्तारी के लिये 77 गांवों के 107 तालाब भरे जाएंगे

रायपुर. छत्तीसगढ़ शासन की पहल पर जिला प्रशासन बलौदाबाजार द्वारा गर्मी के मौसम में जिले के तालाबों में निस्तारी के लिए जल भरने का काम शुरू हो चुका है। इस क्रम में गंगरेल जलाशय से पानी जिले में बीबीसी केनाल के जरिये पहुंच गया है। गौरतलब है कि निस्तारी उपयोग के लिए हर वर्ष जिले के चुनिंदे तालाबों में जलभराव किया जाता है। जिले के 77 गांवों के 107 तालाबों को हर वर्ष की तरह इस साल भी पानी से भरने का लक्ष्य रखा गया है। एसडीएम सुश्री लवीना पाण्डेय एवं कार्यपालन अभियंता जल संसाधन बीपी सिंह ने आज बीबीसी केनाल एवं वितरक नहरों के कई स्थलों का निरीक्षण कर प्रवाहित जल का अवलोकन किया।

एसडीएम सुश्री पाण्डेय ने कहा कि पानी बहुत मूल्यवान है। तालाबों तक नहरों के जरिये पानी पहुंचाया जाये। खेतांे में भरते हुए पानी आगे ले जाने से पानी की बहुत बर्बादी होती है। किसी भी सूरत में पानी की बर्बादी नहीं होने चाहिये। तालाब के भर जाने पर नहर तत्काल बंद कर दिये जाये। उन्होंने संबंधित सरपंच एवं पंचायत प्रतिनिधियों तथा ग्रामीण जनों को तालाब भराव कार्य की सतत् निगरानी करने को कहा है। जल संसाधन विभाग के ईई श्री बी.पी.सिंह ने बताया कि बलौदाबाजार शाखा नहर की लम्बाई 72 किलोमीटर है। इस नहर की 18 वितरक नहर, 29 माइनर्स एवं 14 डायरेक्ट आउटलेट के जरिये निस्तारी उद्देश्य से जल प्रदाय किये जाते हैं। उन्होंने बताया कि जिले की 77 गांवों के 107 तालाबों को निस्तारी के लिए जल प्रदाय करने का लक्ष्य रखा गया है। इनमें बलौदाबाजार विकासखण्ड के 36 गांवों के 55 तालाब, पलारी विकासखण्ड के 19 गांवों के 31 तालाब, भाटापारा के 10 गांवों के 14 तालाब, सिमगा के 4 गांवों के 5 तालाब, आरंग के दो गांवों के दो तालाब एवं तिल्दा के 6 गांवों के 9 तालाब शामिल हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!