स्पेन, यूके और अमेरिका के बाद कनाडा के ओल्ड एज होम्स में हुई कोरोना संक्रमित बूढ़ों की मौत

मोंट्रियल । कनाडा में भी हर दिन कोरोना संक्रमण के नए मामले सामने आ रहे हैं। यहां 44,000 से ज्यादा संक्रमण के मामले सामने आ चुके हैं, जबकि 2300 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। रिपोर्ट के मुताबिक कनाडा में कोरोना से हुईं मौतों में अधिकतर लोगों की उम्र 50 से ज्यादा है, जबकि इनमें से करीब 63 प्रतिशत लोग मोंट्रियल और देश के अन्य शहरों में स्थित ओल्ड एज होम्स में रह रहे थे। सवाल उठ रहा है कि क्या इटली, स्पेन, यूके और अमेरिका के बाद यहां भी बूढ़ों को मरने के लिए छोड़ दिया गया था। कनाडा की राजधानी मोंट्रियल में अभी तक कोरोना के सबसे ज्यादा केस सामने आए हैं। मोंट्रियल के ओल्ड एज केयर होम में काम करने वालीं महिला के मुताबिक उनके यहां रहने वाले सभी 180 बुजुर्ग कोरोना की चपेट में आ गए हैं। उन्होंने कहा कि हमारे पास अस्पतालों जैसी कोई सुविधा नहीं थी, हमारे पास मेडिकल इक्विपमेंट भी नहीं थे। इसकारण कोरोना संक्रमण ओल्ड एज होम्स में जंगल की आग की तरह फैल गया। बता दें कि कनाडा में ओल्ड एज होम्स को लॉन्ग टर्म केयर फैसिलिटी के नाम से जाना जाता है। कनाडा के क्यूबेक शहर में हुईं मौतों में से 97 प्रतिशत की उम्र 60 से ज्यादा है और इनमें से ज्यादातर ओल्ड एज होम्स में ही रह रहे थे। बताया जा रहा है कि करीब 16 प्रतिशत मौतें प्राइवेट नर्सिंग होम में हुई हैं और इनमें भी ज्यादातर 60 से ऊपर के ही लोग शामिल हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!