कोरोना से लड़ने के लिए भारतीय सेनाएं ऑपरेशनल टास्क के लिए तैयार: बिपिन रावत

नई दिल्ली। चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत ने कहा कि सशस्त्र बलों के रूप में हम कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में अपनी जिम्मेदारी समझते हैं। बिपिन रावत ने कहा कि हमें जो भी बजट दिया गया है उसका सही इस्तेमाल किया जाएगा और कोविड से लड़ने में सेनाएं किसी भी ऑपरेशनल टास्क के लिए तैयार हैं। उन्होंने कहा कि मुझे आपको यह बताते हुए बहुत खुशी हो रही है कि हमारे सभी लोगों ने आरोग्य सेतु ऐप को डाउनलोड कर लिया है। हम यह सुनिश्चित करने में सक्षम होंगे कि कोरोना वायरस का प्रसार न हो सके। हमें यह सुनिश्चित करना है कि हम सुरक्षित रहें, क्योंकि अगर हमारे सैनिक, नाविक और एयरमैन इस वायरस से प्रभावित होते हैं, तो हम अपने लोगों की सुरक्षा कैसे करेंगे। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस ने बहुत सीमित संख्या में तीनों सेनाओं को प्रभावित किया है। यह अनुशासन और धैर्य है जिसने हमें खतरे को फैलने से रोकने में मदद की है।

चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत का कहना है कि यह एक ऐसा समय है जब कुछ दिशा-निर्देश जारी किए हैं, जिनका हमें पालन करना होगा अगर हम महामारी के खतरे से लड़ना चाहते हैं। धैर्य और अनुशासन ही हमें कोरोना वायरस संकट को दूर करने में मदद करेगा। उन्होंने कहा कि चिकित्सा अनुसंधान में शामिल वैज्ञानिक और अन्य एजेंसियां ​​देश में चिकित्सा उपकरणों का उत्पादन करने के लिए नवीन विचारों के साथ आई हैं, जिन्हें अब तक हम दूसरे देशों से आयात कर रहे थे। कोरोना वायरस ने हमें एक सबक सिखाया है कि अब आत्मनिर्भर होने का समय आ गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!