भारत को जाने कार्यक्रम का शानदार समापन, छा गए अब्दुल आरिफ खान, गिनीज बुक में होगा दर्ज

दक्षिणापथ, दुर्ग। अंतर्राष्ट्रीय काव्य प्रेमी मंच तंजानिया के द्वारा विश्व के सबसे बड़े ऑनलाइन वर्चुअल कार्यक्रम भारत को जाने का समापन 30 नवंबर हुआ। इसे नाम गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज किया जाएगा इस कार्यक्रम का संयोजन तंजानिया की डॉक्टर ममता सैनी कर रही है जिसमें पूरे विश्व से 50 से अधिक देश के 300 से अधिक कवि साहित्यकार गीत का सिंगर व व्यवस्थापक हिस्सा ले रहे हैं कार्यक्रम का उद्घाटन अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रसिद्धि प्राप्त भजन गायक श्री अनूप जलोटा के द्वारा किया गया इस कार्यक्रम में भारत के सभी राज्य व केंद्र शासित प्रदेश की राज्य की व महिमा चौपाई एवं दोहा के माध्यम से कवियों व साहित्यकारों के द्वारा फेसबुक पर लाइव प्रस्तुत किया जा रहा है इस कार्यक्रम में छत्तीसगढ़ के प्रमुख गायक के रूप में शिक्षक अब्दुल आरिफ खान श्रीमती रुखसार खान एवं रायपुर की वंदना शर्मा ने अपनी सहभागिता दर्ज की है।


इस कार्यक्रम में भारत की महिमा गीत उत्तर प्रदेश गोवा छत्तीसगढ़ दिल्ली उड़ीसा और मणिपुर को दोहा एवं चौपाई से लयबध्द श्री अब्दुल आरिफ खान के द्वारा किया गया एवं इन राज्यों के प्रशस्ति गीतों को श्री अब्दुल आरिफ खान श्रीमती रुखसार खान एवं वंदना शर्मा के द्वारा अपने मधुर एवं सुरीली आवाज से संगीतबद्ध किया गया श्री अब्दुल आरिफ खान अपने गायन एवं संगीत कला का प्रदर्शन ना केवल शिक्षा एवं कला के क्षेत्र में अपितु अनेक राज्यों में भी भिन्न-भिन्न कार्यक्रमों में करते रहे हैं उनकी इस अनूठी कला को सदैव सम्मानित एवं प्रशंसित किया जाता रहा है दोहा एवं चौपाई के लिए संगीत निर्माण एवं स्वर संयोजन जैसे क्षेत्रों मे भी गायको के आप प्रेरणा स्त्रोत रहे हैं जिनका अनुसरण करते हुए सभी गायकों ने अपनी गायकी में निखार एवं लयबध्दता दिखायी 37 दिनों तक चलने वाले इस कार्यक्रम में श्री अब्दुल आरिफ खान का योगदान सराहनीय सर्वत्र प्रशंसनीय रहा इस कार्यक्रम में रिकॉर्डिंग संगीत संयोजन सहित अन्य सभी कार्य अब्दुल खान के निर्देशन में किया गया विभिन्न राज्यों के कवियों के द्वारा रचित दोहे एवं चौपाइयों को विद्यालय पाठ्यक्रम में भी सम्मिलित किया जाएगा।

error: Content is protected !!