फल एवं सब्जी की घर पहुंच सेवा है मददगार- मौर्य

राजनांदगांव। कलेक्टर जयप्रकाश मौर्य के मार्गदर्शन में राजनांदगांव में लॉकडाउन की अवधि में फल एवं सब्जी की घर पहुंच सेवा प्रारंभ की गई। अब लोगों के द्वार तक ऑनलाईन सुविधा के तहत फल एवं सब्जियां पहुंचाई जाएंगी। यह सेवा सभी नगरीय निकायों के लिए है और अभी राजनांदगांव शहर के 9 विक्रेताओं ने पंजीयन करा लिया है। राज्य शासन की ओर से आरंभ किए गए इस सुविधा में राजनांदगांव शहर भी जुड़ गया है। शहर के फल एवं सब्जी विक्रेता इस वेबसाईट में जाकर अपना पंजीयन करा सकते हैं। कलेक्टर श्री मौर्य ने कहा कि सब्जी एवं फल की यह घर पहुंच सेवा उपभोक्ताओं एवं सब्जी.फल विक्रेताओं दोनों के लिए ही मददगार है। उन्होंने ज्यादा से ज्यादा नागरिकों को इसमें सहभागी होने के लिए कहा है। अभी तक जिले में चार विके्रताओं ने पंजीयन करा लिया है। छोटे.बड़े सभी सब्जी विके्रता लॉगिन में जाकर अपना नामए दुकान का नामए सब्जी एवं फल के मूल्य एवं डिलिवरी ब्वॉय की जानकारी भरेंगे। जिला प्रशासन सत्यापन के बाद इन विक्रेताओं को सहमति प्रदान करेंगे। कलेक्टर श्री मौर्य ने कहा है कि फल एवं सब्जी विक्रेता दुकान का नाम एवं पते का लोगो बनाकर जरूरी लगाएं इससे उपभोक्ताओं को जानकारी प्राप्त करने में आसानी होगी वहीं सत्यापन में भी सुविधा होगी। इससे विक्रेता की पहचान स्थापित होगी। लोगो की जगह सेल्फी एवं गैर जरूरी फोटो न लगाई जाए। यदि लोगो नहीं हो तो सफेद कागज पर दुकान का नामए पताए मोबाईल नंबर लिखकर उसका फोटो अपलोड करेंगे।

सिटी एडमिन यह ध्यान रखेंगे कि विक्रेता के पास में पर्याप्त स्टॉकए घर पहुंच हेतु पर्याप्त मात्रा में डिलिवरी ब्वॉय हों। सिटी एडमिन सभी विके्रताओं को निर्देश देंगे कि वे अपने स्टॉक एवं रेट को प्रतिदिन सुबह भरेंगे। पोर्टल में प्रत्येक सुबह स्टॉक एवं रेट नहीं भरने पर ग्राहक को वह वेन्डर वेब पोर्टल नहीं दिखाई देगा। सिटी एडमिन यह सुनिश्चित करेंगे कि विक्रेता फल एवं सब्जियों का दाम बाजार मूल्य से अधिक मनमाने रूप में न भरें। किसी एक विक्रेता के एक से अधिक आवेदन होने पर सिटी एडमिन एक से अधिक एन्ट्री को डिलिट करेंगे। फल एवं सब्जी की गुणवत्ता अच्छी होने की जिम्मेदारी विक्रेता की ही होगी। गुणवत्ता संबंधी शिकायत होने पर जिला प्रशासन एवं सिटी एडमिन द्वारा उसका निराकरण किया जाएगा। सिटी एडमिन द्वारा प्रतिदिन नियमित रूप से शिकायत पेज का अवलोकन कर उसके निराकरण के बाद पोर्टल में दर्ज किया जाएगा। विक्रेता पंजीयन कराते समय आर्डर स्वीकृत करने के लिए निर्धारित राशि का भी उल्लेख करेंगे। विके्रता द्वारा निर्धारित राशि के अनुरूप होम डिलिवरी चार्ज लिया जाएगा। ग्राहक ऑनलाईन सभी सुविधाओं को देख सकेंगे। ग्राहक को पंजीयन कराना होगा। इसके लिए उन्हें पासवर्ड एवं लॉगिन स्वयं बनाना होगा। जैसे ही लॉगिन करेंगे जो भी सामग्री खरीदना चाहते हैं उसके लिए आर्डर दे सकते हैं। आर्डर देने के बाद ओटीपी नंबर प्राप्त होगा। जिस दुकान को सामान खरीदने के लिए चयनित किया गया है वहां से संदेश के रूप में डिलिवरी ब्वॉय का नाम एवं सूचना दी जाएगी। सामान प्राप्त होने पर ओटीपी नंबर देना होगा। डिलिवरी के समय ग्राहक को प्राप्त ओटीपी डिलिवरी ब्वॉय पर स्वयं के लॉगिन से भरा जाएगा, जिसके पश्चात ही आर्डर डिलिवर माना जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!