नगर निगम ने इंदिरा मार्केट की दुकान से खाली करवाया कब्जा

दक्षिणापथ, दुर्ग। कोर्ट के आदेश से सीलबंद किए गए इंदिरा मार्केट स्थित सिमनां वॉच एण्ड इलेक्ट्रॉनिक्स दुकान क्रमांक ए-34 को खोलकर गुरूवार को नायब तहसीलदार श्रीमती दुर्गा साहू व नगर निगम के नोडल बाजार अधिकारी प्रकाशचंद्र थवानी की मौजूदगी में अवैध कब्जाधारी अजीम बख्श को सामानों की सुपूर्दगी दी गई। नगर निगम से मिली जानकारी के मुताबिक यह दुकान ब्राम्हण पारा निवासी देवेन्द्र स्वर्णकार को नगर निगम द्वारा 1987 में आबंटित की गई थी। जिस पर अजीम बख्श द्वारा कब्जा कर व्यवसाय किया जा रहा था और दुकान अपने नाम आबंटित करने निगम में भी दिया गया था। अजीम के आवेदन को नगर निगम द्वारा खारिज कर दिया गया था। फलस्वरूप अजीम नगर निगम के खिलाफ न्यायालय गया था। न्यायालय द्वारा भी अजीम के दावे को खारिज किया गया। नगर निगम की ओर से इस प्रकरण की पैरवी वरिष्ठ अधिवक्ता कौशल किशोर सिंह ने की । कोर्ट के आदेश पर 6 माह पूर्व दुकान में सीलबंद की कार्रवाही की गई थी। अवैध कब्जाधारी अजीम ने सीलबंद दुकान से सामान वापस देने नगर निगम में आवेदन दिया था। आवेदन के फलस्वरूप अजीम बख्श को गुरूवार को सामानों की सुपूर्दगी दी गई। कार्रवाही के दौरान नगर निगम के सहायक भवन निरीक्षक विनोद मांझी,अतिक्रमण अधिकारी दुर्गेश गुप्ता, उडऩदस्ता प्रभारी शिव शर्मा,प्रभारी बाजार अधिकारी थानसिंह यादव, ईश्वर वर्मा,भुवान दास साहू,शशिकांत यादव के अलावा अन्य अमला मौजूद था।

error: Content is protected !!