90 करोड़ के फिल्टर प्लाट व इंटकवेल की व्यवस्था सुधारे निगम

वार्डो में पेयजल की आपूर्ति निरंतर जारी रहे : वोरा

दुर्ग। शिवनाथ नदी के इंटकवेल एवं 42 व 24 एमएलडी फिल्टर प्लाट में हर माह खराबी आने से शहर के अधिकतर हिस्सों में पानी घरों तक नहीं पहुंच पाना आम बात हो गई है। वर्तमान में अमृत मिशन के 2 वर्षो से चल रहे अधूरे कार्य पूर्ण नहीं होने से फिल्टर प्लाट का क्लोरिन प्लाट व रिनोवेशन का कार्य नहीं हो पाया हैै। प्रदेश सरकार द्वारा निगम के जल विभाग से संबंधित कार्यो के लिए अरबो रुपए नए कार्यो के लिए व रिपेरिंग के लिए खर्च किया जाता है। किन्तु बार- बार जलापूर्ति बाधित होना एक बड़ी समस्या बन गई है। जिसमें तत्काल रोक लगाना अतिआवश्यक है। विधायक अरुण वोरा ने निगम आयुक्त इंद्रजीत बर्मन से कहा कि इंटकवेल व फिल्टर प्लाट की मशीनों व पंपो में खराबी आने पर आवश्यक सेवा के तहत तत्काल मरम्मत करना अतिआवश्यक है। ग्रीष्मऋतु प्रारंभ हो चुकी है शहर के बोर रिपेरिंग, टैकर व बंद पड़े क्लोरिन गैस प्लाट को प्रारंभ करने व बार- बार ट्रासफार्मर के खराब होने से पेयजल की समस्याओं से निजात दिलाने तत्काल कार्यवाही करने कहा। जिससे वार्ड की जनता को शुद्ध व स्वच्छ पेयजल निरंतर प्राप्त हो सके। साथ ही महापौर धीरज बाकलीवाल ने जल विभाग के अधिकारियों से कहा कि जनस्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए घरो तक पहुंचने वाले पेयजल की गुणवत्ता में व साफ्टनेस व क्लोरिन की मात्रा का निरंतर जांचने कहा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!