देश का निर्यात मार्च में 34.57 प्रतिशत गिरा

नई ‎दिल्ली । चमड़ा, रत्न एवं आभूषण तथा पेट्रोलियम उत्पादों की मांग में तेज गिरावट आने से भारत का निर्यात मार्च महीने में 34.57 प्रतिशत गिरकर 21.41 अरब डॉलर पर आ गया। वाणिज्य मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों में यह जानकारी दी गई है। आंकड़ों के अनुसार वित्त वर्ष 2019-20 के दौरान देश का निर्यात 4.78 प्रतिशत गिरकर 314.31 अरब डॉलर पर आ गया। इस साल मार्च महीने में 21.41 अरब डॉलर के वस्तुओं का निर्यात हुआ, जो साल भर पहले के 32.72 अरब डॉलर से 34.57 प्रतिशत कम है। यह 2008-09 के बाद निर्यात में सबसे बड़ी मासिक गिरावट है। इससे पहले मार्च 2009 में भारत का निर्यात 33.3 प्रतिशत कम हुआ था। आलोच्य महीने के दौरान आयात साल भर पहले के 31.16 अरब डॉलर से कम होकर 28.72 अरब डॉलर पर आ गया। यह नवंबर 2015 के बाद आयात की सबसे बड़ी मासिक गिरावट है। तब आयात में 30.26 प्रतिशत की गिरावट आई थी। आयात और निर्यात में गिरावट आने के कारण आलोच्य माह में व्यापार घाटा साल भर पहले के 11 अरब डॉलर से कम होकर 9.76 अरब डॉलर पर आ गया। यह पिछले 13 महीने का सबसे कम व्यापार घाटा है। इससे पहले फरवरी 2019 में व्यापार घाटा 9.6 अरब डॉलर रहा था। कच्चा तेल तथा सोने के आयात में मार्च में क्रमश: 15 प्रतिशत और 62.64 प्रतिशत की गिरावट आई। इस दौरान 10 अरब डॉलर कच्चा तेल का तथा 1.22 अरब डॉलर सोने का आयात किया गया। पूरे वित्त वर्ष के हिसाब से 2019-20 के दौरान आयात 9.12 प्रतिशत गिरकर 467.19 अरब डॉलर रहा। वित्त वर्ष 2019-20 के दौरान व्यापार घाटा 2018-19 के 184 अरब डॉलर से कम होकर 152.88 अरब डॉलर पर आ गया। मंत्रालय ने कहा ‎कि वैश्विक स्तर पर पहले से कायम नरमी के बीच कोरोना वायरस महामारी के संकट के कारण निर्यात में गिरावट आई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!