लघु उधोग भारती दुर्ग जिला इकाई के अनिल बाकलीवाल बने अध्यक्ष, राजेन्द्र पाटनी महमंत्री, अनिल शर्मा कोषाध्यक्ष

लघु उधोग भारती दुर्ग जिला इकाई के अनिल बाकलीवाल बने अध्यक्ष, राजेन्द्र पाटनी महमंत्री, अनिल शर्मा कोषाध्यक्ष


Ro No. 12059/86



Ro No. 12059/86



Ro No. 12059/86

दक्षिणापथ, खैरागढ़। खैरागढ़ विधानसभा के उपचुनाव में 75 प्रतिशत से अधिक मतदाताओ ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया। मुख्यमंत्री भुपेश बघेल द्वारा चुनावी घोषणा पत्र में खैरागढ़ को जिला बनाने की घोषणा ने मतदाताओं में व्यापक असर डाला। कांग्रेस की यशोदा वर्मा, भाजपा के कोमल जंघेल, जोगी कांग्रेस के नरेन्द्र सोनी सहित 10 लोगों का भाग्य मतपेटी में बंद हो गया है। मतगणना 16 अप्रैल को होगी। कांग्रेस प्रत्याशी की जीतने की सूरत में 17 अप्रैल को जिला बनाने की घोषणा मुख्यमंत्री करेंगे। हल्की, फुल्की नोंकझोंक के साथ भीषण गर्मी में भी मतदान शांतिपूर्ण रहा । निर्वाचन अधिकारी अपर कलेक्टर लोकेश चंद्राकर के अनुसार सभी स्थानों पर मतदान शांतिपूर्ण हुआ। सुबह 7 बजे मतदान प्रारंभ हो गया था। इस बार मतदान केन्द्रों में संगवारी मतदान केन्द्र खैरागढ़ जहां सिर्फ महिला अधिकारियों की ड्यूटी लगाई गई, विशेष आकर्षण का केंद्र रहा । खैरागढ़ नगर सहित पूरे विधानसभा क्षेत्र में काफी बड़ा हिस्सा पिछड़ा वर्ग का है। आदिवासी वन बाहुल्य नक्सल प्रभावित क्षेत्र भी है, जहाँ सुबह से महिलाएं वोट डालने कतार में लगी रही और अपनी बार का इंतजार करते देखी गई। जिला प्रशासन व जिला निर्वाचन अधिकारी द्वारा मतदान के लिए दिव्यांग रथ उपलब्ध कराये गये जिसमें बैठकर दिव्यांगजन मतदान केन्द्र पहुंचे। वोटर सेल्फी जोन में मतदाताओं ने फोटो भी खिंचवाई। मतदाता सेल्फी लेकर प्रसन्न है। वोटर सेल्फी जोन मेरा मत, मेरा अधिकार, मतदाता जागरूकता, मै वोट करूंगा क्योंकि, हर एक वोट जरूरी होता है। संगवारी का स्वागतम आकर्षण का केन्द्र रहा। कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी तारण प्रकाश सिन्हा, पुलिस अधीक्षक संतोष सिंह लगातार कई मतदान केन्द्रों में पहुंचकर व्यवस्था देखी। जिला पंचायत के सीईओ अपर कलेक्टर लोकेश चंद्रकार मतदान केन्द्रों की जानकारी, वहां की मतदान की स्थिति इत्यादि पर नजर रखे रहे, उन्होंने कहा कि मतदाता काफी अधिक संख्या में मतदान करने पहुंच रहे हैं। खैरागढ़ विधानसभा उपचुनाव में कुल (कुल मतदाता है) – नए मतदाता 3752, दिव्यांग मतदाता 1011, कुल मतदान केन्द्र 291, अतिसंवेदनशील केन्द्र 53, संवदेनशील केन्द्र 11, राजनीतिक संवेदनशील 86, सहायक मतदान केन्द्र 5, सामान्य केन्द्र 133, सहायक केन्द्र 3 है। यहां 1 लाख हजार 250 महिला मतदाता है और करीब इतने ही 1 लाख 6 हजार 266 पुरूष मतदाता है। यानी कि दोनों की आधी-आधी हिस्सेदारी है। जबकि कुल मतदाता 2 लाख 11 हजार 516 हैं। उल्लेखनीय है कि 2018 में संपन्न आम चुनाव में जोगी कांग्रेस की प्रत्याशी देवव्रत सिंह को 61516 वोट एवं भाजपा के कोमल जंघेल को 60646 वोट मिले थे। इस प्रकार जोगी कांग्रेस के प्रत्याशी देवव्रत सिंह 870 वोट से जीतकर विधायक बने थे। कांग्रेस प्रत्याशी गिरवर जंघेल तीसरे स्थान पर रहकर 31811 मतों तक सिमट गये थे। कुल 15 प्रत्याशी मैदान में थे। छत्तीसगढ़ की सवा तीन वर्ष पुरानी सत्तासीन कांग्रेस का सेमीफाइनल के रूप में सामने आया। सत्ता पक्ष पूरी तरह से आश्वस्त है। जिला बनाने की घोषणा से नगर पालिका परिषद क्षेत्र सहित पूरे विधानसभा क्षेत्र मेें विशेष ग्रामीण क्षेत्र में भी मतदाता स्वस्फूर्त होकर जिला बनाने की मंशा के अनुरूप मतदान केन्द्र पहुंच रहे हैं। यह चुनाव सत्ता पक्ष, विपक्ष के लिए प्रतिष्ठापूर्ण रहा है। यहां भाजपा के स्टार प्रचारकों ने भी जनसभाएं ली, धुआधार प्रचार भी किया। मुकाबला भले ही कांग्रेस की यशोदा वर्मा एवं भाजपा के कोमल जंघेल के मध्य सीधा है लेकिन मतदाताओं की उत्सुकता, खैरागढ़, छुईखदान, गंडई नया जिला बनने के नाम पर स्पष्ट बनते दिख रही है। इस बार मतदान दलों के साथ मतदाताओं के लिए मेडिकल कीट व दवाईयां एवं कोविड संक्रमण से बचाव की व्यवस्था भी की गई है। लगभग आधी जनसंख्या आधी महिला मतदाताओं की है। आज सुबह 9 बजे तक प्रथम चक्र में 17.61 प्रतिशत मतदान हुआ था। अभी चौथे चक्र में मतदान का प्रतिशत 70 तक पहुंचने के संकेत मिल रहे है। जानकारों का मानना है कि मतदान 75 प्रतिशत से अधिक अथवा 80 प्रतिशत तक को छू सकता है। मतदान के दौरान एक दो स्थानों पर हल्की फुल्की नोंकझोंक, भाजपा प्रत्याशी कोमल जंघेल को पहचान नहीं पाने के कारण सुरक्षा अधिकारियों ने कुछ समय के लिए रोका था। तत्काल स्थिति सामान्य हो गई। क्षेत्र के कुकुरमुड़ा मतदान केन्द्र 184 में भी बाहरी व्यक्ति को लेकर कुछ शिकवा शिकायत हुई थी। आज मतदान कांग्रेस प्रत्याशी यशोदा वर्मा एवं कोमल जंघेल सपत्नीक व परिवार के साथ पहुंचकर मतदान किया।