लॉकडाउन: अप्रैल में 66 फीसदी घटी पेट्रोल-डीजल की मांग

नई दिल्ली। देश की ईंधन (पेट्रोल-डीजल) खपत अप्रैल में 66 फीसदी घट गई है, जो पिछले साल की समान अवधि के मुकाबले एक तिहाई कम है। इस दौरान विमान ईंधन (एटीएफ) की मांग में भी 90 फीसदी की गिरावट आई है। पेट्रोलियम उद्योग के अधिकारियों का कहना है कि लॉकडाउन के कारण तमाम कारोबारी गतिविधियां बंद होने, वाहनों के आवागमन पर पाबंदी और उड़ानों पर रोक की वजह से ईंधन खपत में गिरावट आई है। हालांकि, इस दौरान मांग बढऩे से घरेलू रसोई गैस सिलिंडर (एलपीजी) की बिक्री में 30 फीसदी की तेजी आई है। इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन, भारत पेट्रोलियम और हिंदुस्तान पेट्रोलियम के आंकड़ों (अनंतिम) आंकड़ों के अनुसार, अप्रैल में पेट्रोल की खपत घटकर 24 लाख टन और डीजल की 73 लाख टन रह गई। इसी तरह, एटीएफ की खपत भी कम होकर 6.45 लाख टन रह गई। अधिकारियों का कहना है कि मार्च, 2020 में देश में ईंधन बिक्री घटकर एक दशक से ज्यादा समय के निचले स्तर पर पहुंच गई। इसका असर अप्रैल में भी ईंधन खपत पर पड़ा है। मार्च में पेट्रोलियम पदार्थों की बिक्री 17.79 फीसदी घटकर 1.60 करोड़ टन रही थी। हालांकि, बुकिंग में तेजी के कारण पिछले महीने एलपीजी की बिक्री 1.9 फीसदी बढ़कर 23 लाख टन पर पहुंच गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!