जशपुर राजघराने के छोटे बेटे युद्धवीर सिंह जूदेव का निधन, बैंगलोर अस्पताल में आज सुबह 4 बजे ली अंतिम सांस...

जशपुर राजघराने के छोटे बेटे युद्धवीर सिंह जूदेव का निधन, बैंगलोर अस्पताल में आज सुबह 4 बजे ली अंतिम सांस...

Ro No. 12111/89

Ro No. 12111/89

Ro No. 12111/89

दक्षिणापथ, दुर्ग । डॉक्टर बाबासाहेब आंबेडकर मंगल भवन कसारीडीह‌ दुर्ग में भारत रत्न डॉ बाबासाहेब आंबेडकर की 131 वी जयंती भारतीय बौद्ध महासभा और महिला सशक्तिकरण संघ दुर्ग भिलाई के संयुक्त तत्वावधान में उल्लास के साथ मनाई गई। इस अवसर पर कार्यक्रम के मुख्य अतिथि संभाग आयुक्त महादेव कावरे और कार्यक्रम के अध्यक्षता कर रहे पूज्य भंते डॉक्टर चंद्र कीर्ति सहायक प्राध्यापक पाली विभाग सुभारती विश्वविद्यालय मेरठ उत्तर प्रदेश के द्वारा बाबासाहेब आंबेडकर के छायाचित्र और शाक्यमुनि तथागत गौतम बुद्ध के प्रतिमा पर माल्यार्पण एवं पुष्प अर्पित कर दीप प्रज्वलित किया गया। उसके पश्चात पूज्य भंते डॉक्टर चंद्र कीर्ति एवं वरिष्ठ सामाजिक कार्यकर्ता शंभू वासनिक के द्वारा बुद्ध वंदना त्रिशरण एवं पंचशील का सामूहिक पठन किया गया। उपस्थित सभी अतिथियों का स्वागत स्वागत गीत एवं गुलदस्ता तथा पुष्पगुच्छ देकर किया गया। विचारों की अभिव्यक्ति में सर्वप्रथम प्रज्ञा बौद्ध ने बाबा साहब के द्वारा संविधान सभा में प्रस्तुत हिंदू कोड बिल के बारे में जानकारी दी और उन्होंने बताया कि बाबा साहब ने इस देश की महिलाओं के लिए संविधान में सारे अधिकार दिए गए हैं और आज इन्हीं अधिकारों के कारण सभी क्षेत्रों में पुरुषों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर आगे बढ़ रही है। यह सब बाबा साहब की देन है। इस समारोह में उपस्थित सभी अतिथियों का बौद्ध उपासक उपासिकाओ एवं सभी प्रबुद्ध जनों का हार्दिक अभिनंदन करते हैं। सभा को संबोधित करते हुए विशेष अतिथि के रुप में उपस्थित सुशील कुमार गजभिए संभाग आयुक्त कोषालय ने अपनी छत्तीसगढ़ी में स्वरचित कविता के माध्यम से लोगों का मन मोह लिया। डॉ जेपी मेंश्राम सीएमओ ने बाबा साहब के द्वारा शिक्षा और स्वास्थ्य के विषय में जानकारी दी। अतिथि के रूप में उपस्थित प्रियवंदा रामटेके सहायक आयुक्त आदिवासी विकास विभाग ने बाबा साहब के द्वारा दिए गए तीन मंत्र शिक्षा, संगठन और संघर्ष के विषय में अपने विचार व्यक्त की। विचारों की अभिव्यक्ति में अपनी बात रखते हुए पूर्व न्यायाधीश संजय सेन्दरे ने भारतीय संविधान में दिए हुए आम जनता के लिए कानून की जानकारी के बारे में बताया तथा बाबा साहब द्वारा स्थापित संस्था भारतीय बौद्ध महासभा के उद्देश्यों पर भी प्रकाश डाला उन्होंने बताया सभी धर्मों का तुलनात्मक अध्ययन के बारे में ज्यादा जोर देने की बात कहीं। इस कड़ी में मौसमी टंडन और चंद्रकला तारम ने भी बाबा साहब के विचारों को आत्मसात करने पर बल दिया। समारोह में उपस्थित भारतीय बौद्ध महासभासेंट्रल कमेटी के रिपोर्टिंग ट्रस्टी एसआर कानडे बौद्ध ने बताया की बाबा साहब ने आप सबके लिए एक ऐसे धर्म को आपको दिया है जिसमें स्वतंत्रता समता बंधुता मैत्री और करुणा आप सबको बाबा साहब के भारत को बौद्ध में बनाने का सपने को साकार करना है। संस्था प्रमुख सीके डोंगरे ने भी अपने विचार व्यक्त किया। उक्त समारोह‌‌ के मुख्य अतिथि की आसंदी से बोलते हुए महादेव कावरे कमिश्नर दुर्ग ने कहा की आजकल लोग बाबा साहब के छाया चित्रों पर माल्यार्पण करके अपनी इतिश्री मान लेते हैं, आज हमको बाबा साहब के विचारों का बैनर और होल्डिंग बनाकर जगह जगह लगाना चाहिए ताकि बाबा साहब के विचारों को जन जन तक पहुंचाया जा सके। समारोह की अध्यक्षता करते हुए पूज्य भंते डॉक्टर चंद्र कीर्ति सहायक प्राध्यापक पाली विभाग सुभारती विश्वविद्यालय मेरठ उत्तर प्रदेश ने बताया अभी भी समय है सभी को जागरूक हो जाना है और संगठित होना है यह संगठन नहीं ताकत है और आप सबको अपने संगठन के माध्यम से अपनी एकता को भारत की अखंडता को बचाना है। कार्यक्रम के अंत में जयश्री बौद्ध के द्वारा समारोह में उपस्थित सभी प्रबुद्ध जनों का आभार प्रकट किया गया। कार्यक्रम का संचालन आर, के मेश्राम और कल्पना गजभिए के द्वारा किया गया। कार्यक्रम में दुर्ग भिलाई के सभी सामाजिक संगठन की अध्यक्ष रामजी रंगारी शंकर बुध विहार दुर्ग, ‌ प्रबुद्ध कल्याण समिति पदमनाभपुर अरविंद चौधरी समता सुरक्षा सेना ‌ माया बुद्ध विहार, समता बुद्ध विहार, बुध कुटी, पंचशील बुद्ध विहार अंबेडकर नगर भारतीय बौद्ध महासभा जिला शाखा दुर्ग महिला सशक्तिकरण संघ दुर्ग भिलाई के सभी प्रबुद्ध जन उपस्थित रहे।