राज्य के विभिन्न शहरों में वायु प्रदूषण के स्तर में आयी उल्लेखनीय गिरावट: पर्यावरण मंत्री अकबर

रायपुर। वन तथा पर्यावरण एवं आवास मंत्री मोहम्मद अकबर ने आज राजधानी स्थित अपने निवास कार्यालय में प्रदूषण की रोकथाम उपायों के समुचित पालन के संबंध में विभागीय अधिकारियों की बैठक लेकर समीक्षा की। उन्होंने बताया कि राज्य के राजधानी रायपुर सहित विभिन्न बड़े तथा औद्योगिक शहरों में गत मार्च माह के प्रथम सप्ताह की तुलना में चतुर्थ सप्ताह तक वायु प्रदूषण के स्तर में उल्लेखनीय गिरावट दर्ज की गई है और स्थिति बेहतर पायी गई है। इनमें रायपुर, भिलाई, बिलासपुर, कोरबा शहरों में परिवेशीय वायु गुणवत्ता सूचकांक औसत पीएम 10-50 माइक्रोग्राम प्रति घनमीटर से कम अर्थात् अच्छे की श्रेणी में पाया गया है। जबकि रायगढ़ में यह स्थिति 50 से अधिक 60.54 है, जो अच्छे श्रेणी से निम्न अर्थात् संतोषजनक की स्थिति में है। वन मंत्री श्री अकबर ने इसके लिए पर्यावरण संरक्षण मंडल रायगढ़ के क्षेत्रीय अधिकारी अजय गेडाम को कारण बताओं नोटिस जारी करने के निर्देश भी दिए। वन मंत्री श्री अकबर ने बताया कि प्रदेश के विभिन्न शहरों में मार्च के प्रथम से लेकर चतुर्थ सप्ताह तक वायु प्रदूषण के स्तर में जो कमी आयी है, इसके मुख्य कारण में लॉकडाउन की भूमिका महत्वपूर्ण है। उन्होंने बताया कि कोरोना संकट के कारण लॉकडाउन के दौरान रायपुर सहित विभिन्न बड़े शहरों में वाहनों की आवा-जाही में बेहद कमी आयी है। इस दौरान वाहनों का सड़क पर न चलना और निर्माण कार्य आदि का न होना भी वायु प्रदूषण के स्तर में आयी गिरावट में एक महत्वपूर्ण कारण है। इसके अलावा औद्योगिक गतिविधियों तथा प्रतिष्ठानों के परिचालन में कमी भी वायु प्रदूषण के स्तर के कम होने का मुख्य कारण है। इस संबंध में छत्तीसगढ़ पर्यावरण संरक्षण मंडल के क्षेत्रीय कार्यालय रायपुर द्वारा की जा रही वायु प्रदूषण मॉनिटरिंग की रिपोर्ट के अनुसार मार्च के चतुर्थ सप्ताह में परिवेशीय वायु गुणवत्ता सूचकांक औसत पीएम 10-50 माइक्रोग्राम प्रति घनमीटर से कम राजधानी रायपुर में लगभग 32, भिलाई में 48.51, बिलासपुर में 50.45 तथा कोरबा में 37 है और इससे अधिक रायगढ़ में 60.54 है। यह सूचकांक मार्च माह के प्रथम सप्ताह की तुलना में बेहतर है। इस दौरान वायु प्रदूषण के स्तर में उल्लेखनीय गिरावट दर्ज की गई है। उल्लेखनीय है कि राजधानी रायपुर के कलेक्टेªट परिसर में मार्च के प्रथम सप्ताह में वायु प्रदूषण का औसत पीएम 10-55.44 माइक्रोग्राम प्रति घनमीटर एवं पीएम 2.5-30.02 माइक्रोग्राम प्रति घनमीटर पाया गया। इसी प्रकार सल्फर डाई ऑक्साइड 17.60 माइक्रोग्राम प्रति घनमीटर एवं नाइट्रोजन ऑक्साइड 15.40 माइक्रोग्राम प्रति घनमीटर पाया गया। इसी प्रकार मार्च के चतुर्थ सप्ताह में वायु प्रदूषण का औसत घटकर पीएम 10-41.26 माइक्रोग्राम प्रति घनमीटर एवं पीएम 2.5-24.33 माइक्रोग्राम प्रति घनमीटर, सल्फर डाई ऑक्साइड 13.56 माइक्रोग्राम प्रति घनमीटर एवं नाइट्रोजन ऑक्साइड 11.37 माइक्रोग्राम प्रति घनमीटर पाया गया। इसी प्रकार एनआईटी रायपुर में मार्च के प्रथम सप्ताह में वायु प्रदूषण का औसत पीएम 10-43.88 माइक्रोग्राम प्रति घनमीटर एवं पीएम 2.5-29.68 माइक्रोग्राम प्रति घनमीटर, सल्फर डाई ऑक्साइड 13.28 माइक्रोग्राम प्रति घनमीटर एवं नाइट्रोजन ऑक्साइड 14.49 माइक्रोग्राम प्रति घनमीटर प्राप्त हुआ। यहां मार्च के चतुर्थ सप्ताह में वायु प्रदूषण का औसत घटकर पीएम 10 32.88 माइक्रोग्राम प्रति घनमीटर एवं पीएम 2.5-18.74 माइक्रोग्राम प्रति घनमीटरए सल्फर डाई ऑक्साइड 8.20 माइक्रोग्राम प्रति घनमीटर एवं नाइट्रोजन ऑक्साइड 9.72 माइक्रोग्राम प्रति घनमीटर पाया गया। इस अवसर पर छत्तीसगढ़ पर्यावरण संरक्षण मंडल के विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!