अमेजन जंगल तक पहुंचा कोरोना, आदिवासियों के अस्तित्‍व के लिए संकट

ब्रासीलिया। ब्राजील में कोरोना की वजह से अभी तक 487 लोगों की मौत हो गई है। वहीं, 11,287 लोग महामारी से संक्रमित हैं। शुरू में इस महामारी के केंद्र साउ पाउलो के औद्योगिक राज्य थे।लेकिन अब यह पूरे देश में फैल चुका है, जिसमें अमेजन का इलाका भी शामिल है। ब्राजील के आदिवासियों में कोरोना का पहला मामला अमेजन इलाके में ही पाया गया था। शोधकर्ता डॉ.सोफिया मेंडोंका कहती हैं, डर है कि कोरोनो वायरस अधिक खतरनाक साबित हो सकता है। कोरोना वायरस से बचाव के लिए कुछ समुदायों ने खुद को छोटे-छोटे समूहों में अलग कर लिया है और जंगल के अंदर ही रहने की योजना बनाई है।

यही तरीका अपनाकर उन्होंने अतीत में आई महामारियों से खुद को बचाया था। इन समुदायों के पास संक्रमण से बचने के संसाधन काफी कम हैं। इनके पास न तो हैंड सैनिटाइजर हैं और न ही साबुन।इसके बाद यदि एकबार यह महामारी इनके बीच फैलती है, तो अमेजन के पूरे आदिवासी इसकी चपेट में आ सकते हैं। इससे लाखों की संख्या में मौत हो सकती है। अमेजन के जंगल धरती के फेफड़े कहे जाते हैं और बड़ी संख्‍या में आदिवासी समुदाय के लोग इस जंगल में सदियों से रहते रहे हैं। कोरोना ने अब उनके अस्तित्‍व के लिए संकट पैदा कर दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!