कोरोना का प्रकोप कम होने और कच्चे तेल में नरमी से वैश्विक शेयर बाजारों में तेजी का रुख

हांगकांग। कोरोना वायरस महामारी से बुरी तरह पीड़ित देशों में मृत्यु दर घटने की रपटों से इसका प्रकोप कम होने की उम्मीद और कच्चे तेल में नरमी के बीच दुनिया भर के शेयर बाजारों में सोमवार को तेजी देखी गई। हालांकि, कोरोना का संक्रमण अभी भी अपने घातक रूप में मौजूद है और दुनिया भर में इससे साढ़े बारह लाख से अधिक लोग संक्रमित हो चुके और 70,000 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है। नेशनल ऑस्ट्रेलिया बैंक के तापस स्ट्रिकलैंड ने कहा कि ऐसा लग रहा है कि वायरस यूरोप में चरम पर पहुंच रहा है, क्योंकि इटली में लगातार दूसरे दिन आईसीयू में भर्ती मरीजों की संख्या में कमी आई है। आस्ट्रेलिया, दक्षिण कोरिया और अन्य देशों में प्रकोप के कुछ कम होने के संकेत है। अमेरिका में संक्रमित लोगों का आंकड़ा 3.35 लाख से ऊपर जा रहा है लेकिन राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने कहा कि उनके देश में अब संक्रमण की रफ्तार में ठहराव के संकेत दिख रहे हैं।
इस बीच तेल उत्पादक एवं निर्यातक देशों के संगठन ओपेक और रुस के नेतृव में दूसरे बड़े उत्पादाकों की बैठक टल जाने से तेल उत्पादन में कटौती के किसी नए समझौते की संभावना धूमिल हुई है। इससे तेल के भाव फिर लुढ़क गए हैं। इस खबरों से उत्साहित एशियाई बाजारों में सोमवार को तेजी देखने को मिली। टोक्यो, सिडनी और मनीला में लगभग चार प्रतिशत की तेजी आई। हांगकांक और जकार्ता दो प्रतिशते से अधिक चढ़े, जबकि ताइपे 1.6 प्रतिशत बढ़ा। शुरुआती कारोबार में लंदन दो प्रतिशत से अधिक, फ्रैंकफर्ट चार प्रतिशत से अधिक और पेरिस तीन प्रतिशत से अधिक चढ़ा। हालांकि, कारोबारी अमेरिका में इस महामारी के बढ़ने की आशंका के चलते सतर्क हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!