कोविड-19: फ्रांस में 24 घंटे में 833, अमेरिका में 1150 की मौत

पेरिस। फ्रांस में कोरोना वायरस का कहर जारी है। सोमवार को जारी आंकड़ों के अनुसार, फ्रांस में 24 घंटों के भीतर 833 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई। महामारी की शुरुआत के बाद दैनिक मौतों का यह सबसे बड़ा आंकड़ा है। देश के स्वास्थ्य मंत्री ओलिवियर वेरन ने यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि फ्रांस में कोरोना वायरस महामारी में मारे गए लोगों की संख्या बढ़कर 8 हजार 911 तक पहुंच गई। कोरोना वायरस महामारी के चलते फ्रांस में 17 मार्च से ही लॉकडाउन घोषित किया जा चुका है। हालांकि, अभी महामारी के संक्रमण का आंकड़ा थमता दिखाई नहीं दे रहा है। फ्रांस ने अब हर रोज अस्पतालों के साथ नर्सिंग होम्स में कोरोना वायरस के संंक्रमण से होने वाली मौतों का आंकड़ा जारी करना शुरू कर दिया है। पहले केवल अस्पतालों में दैनिक हिसाब से होने वाली मौतों का आंकड़ा जारी किया जाता था।
न्यूयॉर्क में दो हफ्ते बढ़ा लॉकडाउन
अमेरिका में कोरोना वायरस संकट सबसे बुरे सप्ताह में पहुंच चुका है। न्यूयॉर्क, मिशिगन और लुइसियाना में मृतकों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। अमेरिका में मृतकों की संख्या 10,000 के पार पहुंच चुकी है। देश में कुल मृतक संख्या 10369 हो चुकी है जबकि संंक्रमित 3,52,160 हो चुके हैं। वहीं यूरोपीय देशों में मृतकों की संख्या घटी है।
जापान में लागू हो सकता है आपातकाल
जापान में टोक्यो समेत देश के विभिन्न हिस्सों में कोरोना वायरस संंक्रमण के मामले बढऩे पर पीएम शिंजो आबे ने कहा कि सरकार आपातकाल घोषित करने और बाजार को एक हजार अरब डॉलर का पैकेज देने की योजना बना रही है। उन्होंने कहा, ‘सलाहकार समिति के विचार जानने के बाद हम मंगलवार से ही आपातकाल पर विचार कर रहे हैं। जबकि आर्थिक हानि को देखते हुए सरकार 108 हजार अरब येन (एक हजार अरब डॉलर) का राहत पैकेज भी दिया जाएगा।
पाकिस्तान में कुल 3,520 मामले
पाकिस्तान में संक्रमण की संख्या 3,520 तक पहुंच गई। जबकि स्वास्थ्य अधिकारियों द्वारा लोगों से घरों में रहने की अपील के बावजूद लोग सरकारी आदेशों की धज्जियां उड़ाते देखे गए। अब तक देश में कुल 52 मौतें हो चुकी हैं जबकि पंजाब प्रांत में 1,684, सिंध में 932 मामले सामने आए हैं। यहां पीओके में 225 मामलों में संक्रमण की पुष्टि हुई है। वहीं, कोरोना के चलते पाकिस्तान ने गुरुद्वारा पंजा साहिब में बैसाखी समारोहों को रद्द कर दिया है।
इक्वाडोर में सड़कों पर पड़े हैं शव
अमेरिका से लगा लेटिन अमेरिकी देश इक्वाडोर भी इन दिनों कोरोना वायरस की चपेट में है। यहां के पश्चिमी शहर गुयाक्विल में सड़कें वीरान हैं और मृतकों के शव सड़कों पर हैं जिन्हें उठाने वाला तक नहीं मिल रहा है। अधिकारियों ने कहा है कि इस शहर में मौतों की बढ़ती संख्या ने ताबूतों की कमी पैदा कर दी है और लोग कार्डबोर्ड के डिब्बों का ताबूत बनाने को मजबूर हो रहे हैं। देश के उपराष्ट्रपति ओटो सोनेहोल्जनर ने इन हालातों के लिए जनता से माफी मांगी है। गुयाक्विल शहर में करीब 150 लावारिस शव सड़कों और गलियों में हैं। जबकि लोग इन शवों के पास जाने तक से कतरा रहे हैं क्योंकि उन्हें भी वायरस का खौफ है। उपराष्ट्रपति ने शवों को सड़कों से हटाने का आदेश जारी किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!