मुख्यमंत्री ने कोरोना योद्धाओं से फोन पर की बात

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने रविवार सुबह अपने निवास से प्रदेश भर में कोरोना संक्रमण की स्थिति में मैदानी में ड्यूटी बजा रहे पुलिस, स्वास्थ्य, नगरीय निकाय, सफाईकर्मी एवं अन्य से दूरभाष पर चर्चा की। उन्होंने कर्मचारी एवं अधिकारियों से उनका हालचाल पूछा और कोरोना को हराने में पूरी ताकत के साथ जुटने की अपील की। साथ ही उन्होंने भरोसा दिलाया कि संकट की घड़ी में मप्र सरकार कोरोना योद्धाओं के साथ खड़ी है।
मुख्यमंत्री ने करीब एक दर्जन जिलों के एसपी एवं कलेक्टरों से चर्चा की। जिसमें इंदौर, भोपाल, ग्वालियर, शिवपुरी, जबलपुर, मुरैना जिले शामिल हैं। साथ ही उन्होंने डॉक्टरों एवं अस्पताल के अन्य स्वास्थ्य कर्मचारियों से भी फोन पर बात की। उन्होंने सामाजिक संगठनों के पदाधिकारियों से भी बात की। साथ ही उनसे संकट की घड़ी में जनता की सेवा करने की अपील की। उन्होंने ऐसी समाजसेवी संस्थाओं केा धन्यावाद दिया जो अपनी जान जोखिम में डालकर पीडि़तों के बीच भोजन-पानी तक पहुंचाने का काम कर रही हैं।
कोरोना संकट के बीच ड्यूटी बजा रहे सरकारी अधिकारी एवं कर्मचारियों को मप्र सरकार की ओर से अनहोनी की स्थिति में 50 लाख की मदद की जाएगी। राज्य सरकार की ओर से इसकी सूचना जारी की गई है। यह मदद पीडि़त परिवार को केंद ्रसरकार की मदद के अलावा होगी।
राज्य शासन ने कोरोना वायरस कोविद-19 के उपचार के लिये चिन्हित शासकीय तथा निजी चिकित्सालयों और चिकित्सा महाविद्यालयों में ड्यूटी पर कार्यरत स्टाफ नर्सों को लाने-ले-जाने के लिए परिवहन एवं आवासीय व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिये है। संचालक राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन श्रीमती स्वाति मीणा नायक ने सभी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारियों से कहा है कि इस व्यवस्था के लिये मिशन के कोविड बजट में राशि आवंटित की गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!