कांग्रेस सरकार के वादाखिलाफी एवं ढाई साल के बदहाली कार्यकाल के खिलाफ भाजपा का प्रदर्शन

कांग्रेस सरकार के वादाखिलाफी एवं ढाई साल के बदहाली कार्यकाल के खिलाफ भाजपा का प्रदर्शन

Ro No. 12111/89

Ro No. 12111/89

Ro No. 12111/89

भाजपा के अंत का इतिहास लिखने जा रहा है इस बार का मकर संक्रांति लखनऊ । सपा में शामिल होने के अवसर पर आयोजित वर्चुअल प्रेस कांफ्रेस में स्वामी प्रसाद मौर्या ने कहा कि भाजपा ने पिछड़ों, दलितों, गरीबों, अल्पसंख्यकों के आंख में धूल झोंककर सत्ता हथियाई थी। भाजपा ने योगी को मुख्यमंत्री बनाकर पिछड़ों को धोखा दिया। उन्होंने कहा कि इस बार मकर संक्रांति भाजपा के अंत का इतिहास लिखने जा रहा है। बीजेपी के जिन नेताओं के पास मंत्रियों और विधायकों से बात करने वक्त नहीं मिलता था, आज उनकी नींद हराम हो गयी है। उन्होंने कहा कि कुछ लोग कहते हैं कि पांच साल तक क्यों नहीं आवाज उठायी। मौर्य ने कहा कि बीजेपी के कुछ लोग कहते हैं कि पांच साल तक इस्तीफ ा क्यों नहीं दिया। कुछ कहते हैं बेटे के चक्कर में बीजेपी छोड़ी है। मैं बताना चाहता हूं कि बीजेपी ने गरीबों, पिछड़ों, दलितों और अल्पसंख्यकों की आंख में धूल झोंककर सत्ता हथियाई थी। स्वामी प्रसाद मौर्य ने कहा कि सरकार बनाएं दलित और पिछड़े, मलाई खाएं पांच फीसदी अगड़े। उन्होंने कहा कि पहले कहा गया था कि केशव प्रसाद मौर्य या स्वामी प्रसाद मौर्य सीएम बनाए जाएंगे, फि र स्काईलैब से गोरखपुर से लाकर सीएम बना दिया गया।मुख्मंत्री योगी के बयान पर हमला बोलते हुए स्वामी प्रसाद मौर्य ने कहा कि लड़ाई 80 बनाम 20 की नहीं है बल्कि 85 बनाम 15 की है। हम तो कहते हैं कि 85 तो हमारा है, 15 में भी बंटवारा है। यदि आप हिंदुओं के हमदर्द हैं तो फि र पिछड़ों, अनुसूचित जाति और जनजाति के आरक्षण पर क्यों डाका डालते हो। अभी-अभी 69 हजार शिक्षकों की भर्ती हुई। इनमें से 19 हजार ओबीसी और दलित सीटों वर्ग की सीटों पर हक मारा गया। भाजपा को हम फिर 2017 के पहले की स्थिति में लाएंगे।मौर्या ने कहा कि हमने सोचा था कि 14 साल वनवास के बाद भाजपा को सत्ता में आने का मौका मिला है। अक्ल ठिकाने आ गयी होगी। गरीबों, मजलूमों के लिए काम करेगी। लेकिन जिन दलितों, पिछड़ों, गरीबों के बल पर भाजपा ने सरकार बनायी। सरकार बनने के बाद उनमें से एक-एक को दफनाना शुरू कर दिया। लेकिन भाजपा समझ ले कि आज के बाद यूपी में ऐसी आंधी और सुनामी चलेगी, जिसमें भाजपा के परखच्चे उड़ जाएंगे। उन्होंने कहा कि अखिलेश यादव से हाथ इसलिए मिलाया है क्योंकि अखिलेश यादव नौजवान हैं, पढ़े लिखे हैं। नई ऊर्जा है। मंै लाखों लोगों का हुजूम उनके साथ खड़ा कर भाजपा को नेस्तनाबूद करने का काम करूंगा। मौर्या ने कहा कि मैं जिसका साथ छोड़ता हूं, उसका अता-पता नहीं चलता है। बहन जी इसकी मिशाल हैं।