सोशल मीडिया पर वायरल हुई सूची से प्रशासन सकते में

बाहर से आए नागरिकों को लेकर ग्रामीण हुए परेशान
बिलासपुर । सोशल मीडिया जहां इस संकट की घड़ी में लाभदायक सिद्ध हो रहा वही कुछ मामलों में ऐसी स्थिति भी बन रही है कि सोशल मीडिया ने प्रशासन को परेशानी में डाल दिया पहले सचिवालय से वह लेटर वायरल हुआ जो राज्य के समस्त कलेक्टर को जारी हुआ था किंतु सचिवालय के ही किसी व्यक्ति ने उसे सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया अब पुलिस की विशेष शाखा जहां पर विदेश जाने और वापस आने वाले नागरिकों का लेखा रखा जाता है कि एक सूची वायरल हुई है लोगों का मानना है कि प्रशासन इस सूची पर गंभीरता से काम कर रहा है और उसे चिंता उन 8 लोगों की है जो रायपुर आने के बाद गायब हो गए हैं इसमें रामा वेली का एक कोविड-19 पॉजिटिव छत्तीसगढ़ में पाया गया है और भारतीय नगर, गणेश नगर, जबडापारा, चंदेला नगर, महावीर नगर, ओल्ड हाई कोर्ट के पते वाले लोग की खोज की जा रही है जो सूची वायरल हुई है उसे आला अधिकारी सच कहने से बच रहे हैं किंतु सूची में जिस तरह से पासपोर्ट नंबर के साथ विदेश जाने वह वापस आने का रिकॉर्ड है सूची को सच माना जा रहा है इसमें 1 दिसंबर से हिसाब किताब देना है इस दौरान बिलासपुर के 8 लोगों ने चाइना की यात्रा की 22 लोग दुबई गए 7 लोग यूएई गए और एक आदमी इटली गया है इस तरह दुबई जाने वाले व वापस आने वाले की संख्या सर्वाधिक है प्रशासन रोज शाम को कोई स्वास्थ्य बुलेटिन जारी तो नहीं करता जिससे पता चले कि कितने लोग शासन के कहने पर क्वॉरेंटाइन हैं और कितने लोग सेल्फ क्वॉरेंटाइन हो गए हैं एक तरफ कथित रूप से पढ़े लिखे लोग अपनी विदेश यात्रा को छुपा रहे हैं दूसरी तरफ ग्रामीण क्षेत्र का एक उदाहरण है गोकुल नगर वार्ड नंबर 4 जहां एक परिवार का लड़का आज सड़क मार्ग से रायपुर से बिलासपुर आया और उसकी मां उसे उसके कमरे में बंद रखा है तथा लड़का कहीं गायब ना हो जाए के डर से स्वयं बाहर नजर रखे हैं ऐसे में अब यह समझना कि शहरी नागरिक समझदार है और ग्रामीण नहीं उल्टा पड़ सकता है एक दूसरी घटना बिल्हा ब्लॉक के मुढीपार की है जहां पर 15 लोग अपने घर वापस आए हैं इनमें चार उड़ीसा से तीन दिल्ली से एक चेन्नई दो पुणे दो नागपुर से हैं इन्होंने स्वयं ही अपनी आमद ग्राम पंचायत में दर्ज कराई पंचायत ने यह सूची थाना बिल्हा टीआई को दे दी है अब गांव के लोग उनके गांव में घूमने से परेशान हैं और मांग कर रहे हैं कि उन्हें उनके घर में ही रहने को कहा जाए ऐसा लगता है कि कुछ लोग शासन-प्रशासन के निर्देशों की परवाह नहीं कर रहे हैं इससे सामाजिक समरसता बिगड़ सकती है।
०००००००००००००००००००००

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!