संकट के इस भीषण दौर में आमलोगों के उपचार में स्वास्थ्य सुविधाओं की कोई कमी नही होनी चाहिए:अवधेश सिंह चंदेल

विधानसभा के कार्यकर्ताओं को कोरोना महामारी औऱ लॉकडाउन में हरसंभव मदद के लिए तत्पर रहने को कहा
दक्षिणापथ, बेरला।
विश्व्यापी कोरोना महामारी(कोविड-19) एवं उसे नियंत्रित करने ज़िला प्रशासन द्वारा बेरला-बेमेतरा विधानसभा सहित पूरे ज़िले में लगाये लॉकडाउन पर स्थानीय क्षेत्र के पूर्व विधायक अवधेश सिंह ने अपनी प्रतिक्रिया दी है।उन्होंने राज्य की भूपेश सरकार को आड़े हाथों लिया उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी को आये बीते 1 वर्ष से अधिक हो गए है परन्तु अभी भी चिकित्सा के क्षेत्र में कोई उचित व्यस्था सरकार नही कर पाया।राज्य सरकार को चाहिए कि हमे अभी वर्तमान में स्थिति को देखते हुए केंद्र सरकार को कोसना छोड़कर जनता की बेहतरी व सेवा पर ध्यान देने की जरूरत है।क्षेत्र के इस महामारी से प्रभावित आमजनमानस एवं उसे बचाने व जनता की व्यवस्था में लगे कोरोना वारियर्स को ऐसे संकटकाल में हिम्मत, हौसला व धैर्य रखने की आवश्यकता है।क्षेत्र के भाजपा पार्टी से जुड़े समस्त कार्यकर्ताओं व पदाधिकारियों को बढ़ चढ़कर हर सम्भव मदद करने एवं प्रभावित जनमानस को शासन-प्रशासन के प्रोटोकॉल व गाइडलाइंस का ध्यान रखते हुए पालन कर कोरोना से लड़ने की अपील की है।इसके अलावा शासन-प्रशासन को क्षेत्र में आम नागरिकों की जांच व ईलाज पर उचित व्यवस्था करने पर जोर देना चाहिये।किसी भी आम नागरिक को स्वास्थ्य सेवाओं व सुविधाओं में कोई कमी नही होने देना चाहिए।तभी जाकर हम क्षेत्र सहित पूरे देशभर से कोरोना को हराएंगे।
गौरतलब हो कि बेमेतरा-बेरला विधानसभा क्षेत्र के पूर्व विधायक अवधेश सिहं चन्देल संकट के इस दौर में काफी दिनों बाद सामने आए है,क्योंकि विगत कुछ महीनों से उनकी सेहत भी खराब चल रही थी।जिसके चलते उनके कार्य क्षेत्र में कार्यकर्ताओं को कमी भी खलने लगी थी।चूंकि विदित हो कि वर्तमान ज़िले सहित पूरे प्रदेशभर में कोरोना का कोहराम चल रहा है।जिससे रोजाना क्षेत्र में मौत का तांडव देखने को मिल रहा है।जिसमे कई परिजनों के करीबियों को अंतिम दर्शन भी नसीब नही हो पा रहा है।लिहाजा बीते कुछ दिनों से महामारी पर शासन-प्रशासन व विपक्ष द्वारा आरोप-प्रत्यारोप का दौर चल रहा है।जिस पर पूर्व विधायक ने अपना पक्ष रखते हुए संकटकाल के इस भीषण दौर में हमसबको जनता के लिए हरसम्भव व्यवस्था कर जिम्मेदारी अदा करनी चाहिए।इन कोई कमी नही होनी चाहिए।कोरोना वारियर्स के हौसले बढाने का कार्य करना चाहिए, क्योंकि वे इस दौर में घर-परिवार छोड़कर हमसबके लिए जान की बाजी लगा रहे है।
दरअसल ज़िले में इन दिनों क्षेत्रवासियों के उपचार में किट की कमी, कोरोना जांच, बैड की समस्या, ऑक्सीजन सिलेंडर की किल्लत और एम्बुलेंस व वेंटिलेटर की मारामारी सहित कई समस्याएं सामने आ रही है।जिसका संज्ञान लेकर शासन-प्रशासन को इसका तत्काल निराकरण कराने पर ध्यान देना चाहिए।वही जांच के लिए ब्लॉक मुख्यालय बेरला में 15 से 25 किलोमीटर तक दूरस्थ गाँवो से आकर बेरंग लौट रहे लोगों के लिए वही स्थानीय स्तर पर उपस्वास्थ्य केंद या गाँव-गाँव मे शिविर लगावाकर समस्या का हल करना चाहिए।इससे अस्पतालों में स्वास्थ्यकर्मियों पर दबाव कम होगा।बेहतर इंतज़ाम की व्यवस्था होने से मरीजों की सारी समस्याएं दूर होगी।आम लोगो को इस दौरान जिला प्रशासन द्वारा लगाए लॉकडाउन प्रोटोकॉल व कोविड-19 गाइडलाइंस का पालन कर प्रशासन को सहयोग प्रदान करते रहना है।तभी कोरोना महामारी से जीत सम्भव है।

error: Content is protected !!