कोरोना के आगे ममता बनर्जी बेबस? पीएम मोदी को चिट्ठी लिख मांगी ये 3 मदद, बढ़ते केसों के लिए जड़ दिया आरोप

नई दिल्ली. पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव के बीच कोरोना केसों में तेजी से वृद्धि हो रही है। राज्य में फैलते संक्रमण के बीच मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने पीएम मोदी को लेटर लिखा है। उन्होंने पीएम से वैक्सीन से लेकर रेमडेसिवीर इजेक्शन, ऑक्सीजन और दवाओं की मांग की है। उन्होंने कहा है कि जितनी जल्दी संभव हो ये मदद भिजवाई जाए।

पश्चिम बंगाल में कोरोना के बढ़ते केसों के लिए बीजेपी को जिम्मेदार बताने वालीं ममता बनर्जी ने पीएम को लिखे लेटर में भी बाहरियों को जिम्मेदार बताया है। उन्होंने लिखा, ”राज्य में कोरोना के केस तेजी से बढ़ रहे हैं, बड़ी संख्या में बाहरी लोग चुनाव प्रचार और दूसरी वजहों से कुछ राजनीतिक दलों की ओर से आ रहे हैं। इस स्थिति में हमने महामारी को रोकने के लिए युद्ध स्तर पर काम किया है और तीन मुद्दों पर आपके हस्तक्षेप की जरूरत है।”

ममता बनर्जी ने लिखा, ”टीकाकरण सबसे महत्वपुर्ण है। खासकर हमारे राज्य में विशेषतौर पर कोलकाता में, जहां आबादी का घनत्व बहुत ज्यादा है। तेजी से टीकाकरण बहुत आवश्यक है। दुर्भाग्य से हमारे लिए भारत सरकार से टीकों की आपूर्ति दुर्लभ और अनिश्चित है, जोकि हमारे टीकाकरण पर नकारात्मक असर डाल रहा है। हमने 2.7 करोड़ लोगों का टीकाकरण करना है और हमें 5.4 करोड़ डोज की जरूरत है। हम आपसे तुरंत हस्तक्षेप की मांग करते हैं ताकि राज्य को जरूरत के हिसाब से वैक्सीन मिल सके।

ममता बनर्जी ने रेमडेसिवीर और टोसिलिजूमैब जैसी जरूरी दवाओं की आपूर्ति को भी कम बताते हुए कहा कि यह डॉक्टरों के लिए गंभीर चिंता का विषय है। ममता ने कहा कि राज्य को 6000 वायल रेमडेसिवीर और 1000 वायल टोसिलिजूमैब की हर दिन जरूरत है, जबिक राज्य को हर दिन केवल 1000 रेमडेसिवीर इंजेक्शन मिल रहे हैं, जबकि टोसिलिजूमैब की आपूर्ति नहीं हो रही है। इसलिए जल्द से जल्द इन दवाओं की लगातार आपूर्ति शुरू कराई जाए। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने पीएम मोदी से ऑक्सीजन आपूर्ति बढ़ाने की भी अपील की है।

error: Content is protected !!