रणजी में जडेजा को ना, गांगुली बोले- राष्ट्र प्रथम

नई दिल्ली. रविंद्र जडेजा रणजी ट्रोफी फाइनल में सौराष्ट्र की टीम के लिए नहीं खेल पाएंगे। खबर थी कि सौराष्ट्र क्रिकेट असोसिएशन ने बीसीसीआई से जडेजा को राजकोट में बंगाल के खिलाफ 9 मार्च से होने वाले फाइनल के लिए खेलने देने की इजाजत मांगी थी लेकिन बोर्ड अध्यक्ष सौरभ गांगुली ने इसे अस्वीकार कर दिया।

एससीए अध्यक्ष जयदेव शाह ने अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस को बताया कि उन्होंने गांगुली से इस बारे में बात की थी लेकिन उन्होंने ‘देश पहले’ की बात करते हुए इससे इनकार कर दिया। भारत को साउथ अफ्रीका के खिलाफ 12 मार्च से धर्मशाला में तीन वनडे इंटरनैशनल मैचों की सीरीज का पहला मुकाबला खेलना है।

शाह ने कहा, ‘मैंने गांगुली से बात की और उन्होंने मुझसे कहा कि वह जडेजा को रणजी ट्रोफी खेलने की इजाजत नहीं दे सकते क्योंकि देश सबसे पहले है।’ शाह ने कहा कि मेरी सलाह है, ‘अगर आप चाहते हैं कि आपके बड़े घरेलू टूर्नमेंट को दर्शक देखने आएं तो आपको भविष्य में रणजी ट्रोफी फाइनल के दौरान कोई अंतरराष्ट्रीय मुकाबला नहीं रखना चाहिए।’

उन्होंने आगे सवाल किया, ‘क्या बीसीसीआई आईपीएल के दौरान किसी अंतरराष्ट्रीय मुकाबले का आयोजन करवाएगा? नहीं, क्योंकि इससे पैसा आता है। रणजी ट्रोफी सिर्फ तभी लोकप्रिय हो सकती है जब स्टार खिलाड़ी इसमें खेलें। कम से फाइनल में तो ऐसा हो। फाइनल के दौरान अंतरराष्ट्रीय मैच नहीं होने चाहिए। इसके लिए पूरा समय देना चाहिए।’

जडेजा की तरह मोहम्मद शमी को भी साउथ अफ्रीका के खिलाफ भारतीय टीम में शामिल किया जा सकता है। न्यूजीलैंड के खिलाफ सीरीज के आखिरी टेस्ट मैच के दौरान उन्हें चोट लग गई थी- और वह भी बंगाल की टीम का हिस्सा नहीं होंगे। लेकिन टेस्ट विशेषज्ञ चेतेश्वर पुजारा (सौराष्ट्र) और ऋद्धिमान साहा (बंगाल) सिलेक्शन के लिए उपलब्ध होंगे।

शाह ने कहा, ‘जडेजा को रणजी ट्रोफी फाइनल में खेलते देखना अच्छा लगता। सिर्फ जडेजा ही क्यों मैं चाहता हूं कि मोहम्मद शमी भी बंगाल के लिए खेलते।’

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!