औचक निरीक्षण पर चंदूलाल चन्द्राकर कोविड हॉस्पिटल पहुँचे कलेक्टर, सीसीटीवी कैमरों के माध्यम से अस्पताल की व्यवस्था की मॉनिटरिंग

क्रिटिकल केयर से लेकर जनरल बेड तक सभी में चल रही गतिविधियों पर नजर डाली, अस्पताल प्रबंधन से कहा, ऑक्सीजन बेड की संख्या में निरंतर विस्तार करते रहें, कंसेंट्रेटर भी लाएं
– वाहन की व्यवस्था नहीं होने पर मरीज के परिजनों को उपलब्ध कराएं शव वाहन
दक्षिणापथ,दुर्ग।
कलेक्टर डॉ. सर्वेश्वर नरेंद्र भूरे नियमित रूप से लगातार कोविड हॉस्पिटल का निरीक्षण कर रहे हैं। वे आज फिर कचांदुर स्थित चन्दूलाल चंद्राकर मेमोरियल मेडिकल हॉस्पिटल के आकस्मिक निरीक्षण में पहुँचे। यहां उन्होंने सम्बन्धित अधिकारियों एवं नोडल अधिकारी से विस्तृत जानकरी ली। कलेक्टर यहाँ पर कंट्रोल रूम पहुंचे, यहां से अधिकारी सीसीटीवी कैमरों के फुटेज के माध्यम से पूरे अस्पताल में सुविधाओं की मॉनिटरिंग करते हैं। कलेक्टर ने क्रिटिकल मरीजों वाले सेक्शन एवं अन्य सेक्शन भी देखे । उल्लेखनीय है कि कलेक्टर अस्पताल की नियमित मॉनिटरिंग कर रहे हैं तथा सुविधाओं को बढ़ाने की दिशा में निर्देश दे रहे हैं। इससे यहां लगातार सुविधाओं में बढ़ोतरी हो रही है। उन्होंने पूर्व निरीक्षण के दौरान दिए गए निर्देशों के पालन और उस पर हुए अमल की जानकारी ली। इस दौरान निगम आयुक्त श्री ऋतुराज रघुवंशी भी मौजूद रहे। कलेक्टर ने कहा कि अस्पताल में कोविड मरीजों की बेहतरी के लिए जिस भी सुविधा की आवश्यकता हो, उसकी अविलम्ब पूर्ति करना सुनिश्चित करें। उन्होंने मरीजों के परिजनों की कॉउंसलिंग की व्यवस्था भी पुख्ता बनाने के निर्देश दिए।

कलेक्टर ने उपचार करा रहे मरीजों एवं रिक्त बेड की जानकारी ली। नोडल अधिकारी द्वारा बताया गया कि अभी कुछ बेड खाली हैं। भर्ती मरीजों की स्थिति के आधार पर अलग अलग वार्डो में उपचार किया जा रहा है। क्रिटिकल मरीजों का आपात सेवा वार्ड में निगरानी के साथ उपचार किया जा रहा है। कलेक्टर ने कहा कि यहां बेड रिक्त रहने की दशा में किसी भी मरीज को वापस न किया जाए। जो भी मरीज यहां आये उनका समुचित उपचार करना सुनिश्चित करें। उन्होंने यह कहा कि आपात स्थिति में अगर किसी मरीज को रिफर करने की स्थिति बनती है तो उन्हें एम्बुलेंस की सुविधा उपलब्ध कराये। साथ ही मृत्यु हो जाने की दशा में जिनके पास वाहन की व्यवस्था न हो, उन्हें अस्पताल में उपलब्ध शव वाहन से शव पहुंचाने की व्यवस्था करें।
कलेक्टर ने कहा कि संयम और पूरी संवेदनशीलता के साथ कार्य करते हुए इस कठिन समय से निपटा जा सकता है। मरीज व परिजन के साथ सहयोगपूर्ण व्यवहार बनाये रखें। निरीक्षण के दौरान कलेक्टर ने आक्सीजन सिलेंडर की उपलब्धता की जानकारी लेते हुए कहा कि अतरिक्त सिलेंडर रखें । इसके अलावा 10 आक्सीजन कंसेंट्रेटर भी रखने कहा है जिससे मरीज को किसी प्रकार की परेशानी न हो। उन्होंने कहा कि सतत रूप से निगरानी रखने से हालात को नियंत्रित करने में मदद मिलेगी।
कलेक्टर ने यहां ड्यूटी कर रहे स्टाफ की भी जानकारी ली। बताया कि स्टॉफ नर्स, एएनएम सहित निगरानी के लिए अतिरिक्त चिकित्सक की ड्यूटी शिफ्टवार लगाई जा रही है। आवश्यकता अनुसार अमले में बढ़ोतरी की जाएगी।

error: Content is protected !!