कोरोना की दूसरी लहर युवाओं को निशाना बना रही है? जानें क्या कहते हैं कोविड-19 के ये डराने वाले आंकड़े

नई दिल्ली. कोरोना की दूसरी लहर क्या युवाओं को निशाना बना रही है? कोविड-19 पर बने मंत्रिसमूह की बैठक में शुक्रवार को जो आंकड़े रखे गए हैं, उससे तो यही प्रतीत होता है। स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन की अध्यक्षता में हुई इस बैठक में बताया गया कि कोरोना से सर्वाधिक प्रभावित 11 राज्यों में युवा आबादी चपेट में आई है। नेशनल सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल (एनसीडीसी) के निदेशक सुजीत सिंह ने मंत्रिसमूह को अवगत कराया कि 11 सर्वाधिक प्रभावित राज्यों में संक्रमण के अधिकांश मामले 15 से 44 साल के आयुवर्ग में सामने आ रहे हैं। 

वहीं, अधिकतर मौतें 60 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों में हुई हैं। मौतों का रुझान तो पहले की तरह है, लेकिन संक्रमण के मामले युवाओं में तेजी से बढ़ते हुए दिख रहे हैं। बैठक में स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि 149 जिलों में सात दिनों से, आठ जिलों में 14 दिनों से और तीन जिलों में 21 दिनों से कोरोना का कोई नया मामला नहीं दर्ज किया गया है। वहीं, 63 जिलों में पिछले 28 दिनों में कोई भी नया केस सामने नहीं आया है।

अस्पतालों के बुनियादी ढांचे में वृद्धि 
हर्षवर्धन ने कहा कि भारत ने कोविड-19 प्रबंधन के लिए अपने अस्पतालों के बुनियादी ढांचे में काफी वृद्धि की है। 2084 समर्पित कोविड अस्पतालों में 468974 बेड हैं। इनमें से 89 अस्पताल केंद्र और 1995 विभिन्न राज्यों की ओर से संचालित हैं। स्वास्थ्य मंत्री के मुताबिक 4.68 लाख कोविड बेड में से 263573 पृथकवास, 50408 आईसीयू और 154993 ऑक्सीजन-समर्थित बिस्तर हैं। 4043 समर्पित कोविड स्वास्थ्य केंद्र स्थापित किए गए हैं, जिनमें से 85 केंद्र, जबकि 3958 राज्यों की ओर से संचालित हैं। इन स्वास्थ्य केंद्रों में 357096 बेड हैं, जिनमें 231462 पृथकवास, 25459 आईसीयू और 100175 ऑक्सीजन-समर्थित बिस्तर शामिल हैं।

टीकों का उत्पादन बढ़ाने की कोशिश जारी
नीति आयोग के सदस्य (स्वास्थ्य) वीके पॉल ने टीकाकरण के संबंध में जनसंख्या प्राथमिकता के बारे में वैश्विक रुख के बारे में समझाया। उन्होंने कहा कि केंद्र का कोविड-19 टीकाकरण अभियान के लिए प्राथमिकता निर्धारण इसी रुख से निर्देशित है। पॉल ने मौजूदा टीकों के उत्पादन को बढ़ाने के लिए भी विस्तृत प्रयासों को रेखांकित किया। बैठक में विदेश मंत्री एस जयशंकर, नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप पुरी, गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय, बंदरगाह, जहाजरानी एवं जलमार्ग राज्य मंत्री मनसुख मंडाविया और स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्य मंत्री अश्विनी कुमार चौबे मौजूद थे।

error: Content is protected !!