लॉकडाउन में दुर्ग निगम जरूरतमंदों को पहुंचा रहा है भोजन

दक्षिणापथ, दुर्ग। आयुक्त हरेश मंडावी के मार्गदर्शन में नगर निगम द्वारा कोविड-19 सेंटरों के अलावा जरूरतमंद, असहाय गरीब लोगों को भोजन दिया जा रहा हैं। आयुक्त द्वारा ऐसे गरीब असहाय लोगों को भोजन वितरण करने दुर्ग निगम के सभी इंजीनियर स्टॉप और सफाई सुपरवाइजर को जिम्मेदारी दी हैं। सहायक अभियंता जितेंद्र समैया को इस कार्य का नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया है।
निगम आयुक्त हरेश मंडावी ने अधिकारियों को दिए निर्देश….
आयुक्त ने कहा है कि कोई भी व्यक्ति जो जरूरतमंद है लॉकडाउन के दौरान भूखा न रहे। गरीब और जरूरतमंदों तक राहत सामग्री, भोजन पहुंचायें। जिसका पालन करते हुए सहायक अभियंता जितेन्द्र समैया के निर्देशन में भोजन पैकेट का प्रतिदिन की आवश्यकता की जानकारी अधिकारियों से लेते हुए उस आवश्यकता के आधार पर पैकेट की व्यवस्था की जा रही हैं। लॉक डाउन के दौरान भूखे, असहाय, गरीब, मजदूर, विक्षिप्त, बेसहारा जिनके पास खाने के लिए भोजन नहीं है या वह भोजन बनाने आदि में असहाय हैं ऐसे लोगों तक पका भोजन पहुंचाने का कार्य निगम प्रशासन के अधिकारी-कर्मचारी कर रहे हैं।

7 अप्रैल से कोविड-19 केन्द्र सहित लगभग 300 भोजन पैकेट वितरण किया गया….
आयुक्त के मार्गदर्शन में नोडल अधिकारी सहित कर्मचारियों द्वारा 7 अप्रैल से जिला अस्पताल कोवेट सेंटर आजाद हॉस्टल में कोरोना संक्रमण पर काम करने वाले अधिकारी और कर्मचारियों के साथ शहर के चौक-चौराहों फुटपाथ में रहने वाले गरीब असहाय लोगों को भोजन का पैकेट उपलब्ध कराया जा रहा हैं। आयुक्त ने बताया जिला प्रशासन द्वारा जारी आदेश के बाद ऐसे में कई जरूरतमंदों के पास भोजन की समस्या खड़ी हो गई है। रोज काम कर खाने वाले लोग भोजन की व्यवस्था नहीं कर पाते हैं ऐसे लोगों के लिए यह पहल की है। भोजन वितरण में नोडल अधिकारी की सहायता के लिए सभी वार्ड इंजिनियरों, सफाई सुपरवाइजरों, सहायक राजस्व निरीक्षक कोमल यादव को जिम्मेदारी दी गई है।

error: Content is protected !!