विश्व स्वास्थ्य दिवस के मौके छतीसगढ़ चेम्बर की दुर्ग इकाई ने ज़ूम मीटिंग से प्रदेश भर के व्यापारियों को जोड़ा

  • विश्व स्वास्थ्य दिवस पर चेम्बर एवं कैट ने किया संयुक्त आयोजन

दुर्ग.दक्षिणापथ। विश्व स्वास्थ्य दिवस के अवसर पर छत्तीसगढ़ चेंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज एवं कन्फ्डरेशन आफ आल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) के संयुक्त तत्वावधान में ज़ूम वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग मीटिंग के माध्यम से स्वास्थ लाभ संवर्धन के लिए एक कार्यशाला का आयोजन किया गया। जिसमें अंचल के प्रसिद्ध चिकत्सक डॉ. सुशील जैन, चेस्ट स्पेस्लिसिस्ट (रामकृष्ण केयर सुपर स्पशलिटी हॉस्पिटल) एवं डाक्टर श्रेणिक नाहटा, प्रसिद्ध दंत चिकत्सक एवं जालंधर बंध पद्धति विशेषज्ञ द्वारा जूम मीटिंग के माध्यम से किया गया। जिसमें मुख्य अथिति प्रदेश अध्यक्ष श्री अमर पारवानी छत्तीसगढ़ चेंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज,कार्यकारी प्रदेश अध्यक्ष (कैट) श्री मगेलाल जी मालू, श्री विक्रम सिंह देव, महामंत्री (कैट) श्री जितेन्द्र दोशी , प्रदेश महामंत्री (चेंबर) श्री अजय भसीन , कोषाध्क्ष (चेंबर) श्री उत्तम गोलछा साथ ही विशेष आमंत्रित अथिति श्री गौतम जी सांखला प्रसिद्ध समाज सेवी शामिल थे। सर्वप्रथम कैट के प्रदेश मिडिया प्रभारी संजय चौबे ने शामिल अतिथियों का स्वागत किया एवं इसी कड़ी में डाक्टर सुशील जैन ने अपने उदबोधन में बताया की करोना रूपी महामारी के इस दौर में सभी मास्क, भाप, एवं हाथों को नियमित धोना,साथ फिजिकल डिस्टेंस के पालन के बारे में बताया। श्री भसीन के सवाल के जवाब में उन्होंने बताया की किसी भी प्रकार के सिमटम आने पर तत्काल उचित कदम उठाया जाना आवश्यक है, पैनिक होकर स्वयं किसी भी प्रकार का इलाज नहीं करना है, सीधे डाक्टर से सलाह कर इलाज शुरू कर खतरे से बचा जा सकता है। नोट के लेन देन के सवाल पर उन्होंने कहा जब भी नोट का लेनदेन करे उसके पश्चात हाथों को साबुन से धोएं ! आगे प्रसिद्ध दंत चिकत्सक एवं जालंधर बंध पद्धति विशेषज्ञ डाक्टर श्रेणिक नाहटा ने बहुत सार गर्भित जानकारी दी की किस किस तरीके से करोना फ़ैल सकता है एवं जालंधर बंध पद्धति तथा योग के बारे में सभी को बताया। आज के इस कार्यक्रम में पुरे अंचल से व्यापारी एवं व्यापारिक संगठनों के लोग जुड़कर लाभ प्राप्त किया ! इस कड़ी में प्रकाश सांखला एवं अशोक राठी ने कहा की भागदौड़ भरी लाइफ में किसी के पास इतना वक्त नहीं होता है कि अपनी सेहत का ध्यान रख पाए। जिसके कारण मोटापा, डायबिटीज, ब्लड शुगर जैसी कई रोगों का शिकार होना पड़ता है। ऐसे में आप चाहे तो लाइफ कुछ बातों को फॉलो करे इससे कोई भी बीमारी आपको छू भी नहीं पाएगी जैसे एक दिन में कम से कम पांच हजार कदम जरूर चलना चाहिए। वॉकिंग शरीर के लिए उतनी ही जरूरी है जितना सेहत के लिए खाना। यानी खाना खाने के बाद कुछ समय के लिए वॉकिंग जरूर करनी चाहिए। अगर आप सुबह के वक्त आधा घंटा तेज कदमों से चलते हैं तो बहुत ही अच्छा है और अगर सुबह वक्त ना मिल पाए तो रात के खाने के बाद आधा घंटा जरूर चलना चाहिए। आज के कार्यक्रम में पवन बड़जात्या, पूरण सांखला,राजेश नाहटा, संजय जैन, गौतम जी बोथरा, अनिल बल्लेवार, सुशील बाकलीवाल, सहित बड़ी संख्या में व्यापारी शामिल थे। अंत में कार्यक्रम का धन्यवाद ज्ञापन चेम्बर के प्रदेश मंत्री अशोक राठी ने किया।

error: Content is protected !!