अपहृत जवान के सुरक्षित होने के मिल रहे प्रमाण, नक्सलियों ने किया सोशल मीडिया में जवान का फोटो वायरल

दक्षिणापथ,बीजापुर। जिले के तर्रेम थाना क्षेत्र में तीन अप्रैल को हुए मुठभेड़ के बाद कोबरा बटालियन का एक जवान लापता हो गया था, जो अब नक्सलियों के कब्जे में है और सुरक्षित है । इस जवान के फोटो को नक्सलियों ने शोशल मीडिया में वायरल करते हुए जवान के सुरक्षित होने के प्रमाण दिए है । तर्रेम के जूनागुड़ा में पुलिस नक्सली मुठभेड़ में 22 जवान शहीद हो गए थे और 32 जवान घायल थे।

वही कोबरा बटालियन का एक जवान राकेश्वर सिंह मन्हास निवासी जम्मू लापता हो गया था, जिसकी खोजबीन में पुलिस जुट गई थी और कयास लगाये जा रहे थे कि हो न हो जवान नक्सलियों के कब्जे में हो । इसी दौरान नक्सलियो ने शोशल मीडिया में उक्त जवान का फोटो जारी कर उसके सुरक्षित होने का प्रमाण दिया है। पूर्व में भी नक्सली जवान को अपने कब्जे में होने की बात स्वीकारी थी, किंतु फ़ोटो जारी होने के बाद स्पष्ट हो चुका है कि जवान नक्सलियों के कब्जे में ही है, जिसे नक्सली कभी भी रिहा कर सकते है । जवान सुरक्षित होने से परिवार वालो ने भी राहत की सांस ली है ।

error: Content is protected !!