राष्ट्रवाद पर बोले विदेश मंत्री जयशंकर, डिफेंसिव होने की जरूरत नहीं है

राष्ट्रवाद पर बोले विदेश मंत्री जयशंकर, डिफेंसिव होने की जरूरत नहीं है

Ro No. 12027-89

Ro No. 12027-89

Ro No. 12027-89

पीड़ित परिवार के समर्थन में छत्तीसगढ़ शालेय शिक्षक संघ ने भी मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर प्रतिनिधिमंडल को समय देने का किया मांग
दक्षिणापथ, रायपुर ।
बूढ़ातालाब धरना स्थल में कीचड़,बारिश और बदबू के बीच विगत 26 दिन से लगातार धरना प्रदर्शन कर रहे दिवंगत पंचायत शिक्षकों का परिवार अनुकम्पा नियुक्ति प्रदान करने शासन से मांग कर रहा है। परन्तु आज पर्यंत तक शासन की ओर से प्रदर्शनकारी पीड़ित परिवारजनो से कोई चर्चा नही की गई है, जिससे पीड़ितों,शिक्षक समुदाय व आंदोलन के समर्थन में उतरे सामाजिक संगठनों में गहरा आक्रोश है।
शासन द्वारा हो रही इन पीड़ित परिवारों की अनदेखी को देखते हुए छत्तीसगढ़ शालेय शिक्षक संघ के प्रांताध्यक्ष वीरेंद्र दुबे ने मुख्यमंत्री को एक पत्र लिखकर मांग की है कि इन पीड़ित परिवारों के कम से कम 10 प्रतिनिधियो को मुख्यमंत्री निवास बुलाकर इनकी पीड़ा को मुख्यमंत्री स्वयं सुने और अनुकम्पा नियुक्ति देकर इनकी समस्याओं का समाधान करें।

अनुकम्पा संघ के प्रदेश अध्यक्ष माधुरी मृगे,राजेश्वरी दुबे,त्रिवेणी यादव,पूर्णिमा श्रीवास,रेखा नायक,सरिता देशलहरे,सुनीता पटेल,गंगा ध्रुव,मिथलेश कौशिक,चम्पेश्वर,मनीष पटेल,इंद्रजीत भारती,कुलेश्वर आदि प्रतिनिधियों को लेकर छत्तीसगढ़ शालेय शिक्षक संघ के प्रांताध्यक्ष वीरेंद्र दुबे, मुख्मयंत्री निवास जाकर इनकी समस्याओं को मुख्यमंत्री के समक्ष रखने के लिए मुख्यमंत्री से मिलने का समय मांगने हेतु ज्ञापन सौंपा।
अनुकम्पा संघ की ओर से समस्त शिक्षक संगठनों से आग्रह किया है कि वे एकजुट होकर उनकी मांग पूर्ण कराने में इन पीड़ित परिवारों की मदद करें, और धरना प्रदर्शन में शामिल हों,ताकि इनकी मांग को मजबूती मिल सके।
शालेय शिक्षक संघ के महासचिव धर्मेश शर्मा प्रदेश मीडिया प्रभारी जितेंद्र शर्मा ने बताया कि हमारा सन्गठन सदैव इन पीड़ित परिवारों के अनुकम्पा नियुक्ति हेतु प्रयासरत है और यथासम्भव सहायता भी उपलब्ध करा रहा है। इनकी दयनीय दशा को देखते हुए मुख्यमंत्री संवेदनशीलता का परिचय देते हुए इन्हें अविलम्ब अनुकम्पा नियुक्ति प्रदान करें जिससे ये अपने परिवार का लालन पालन कर सके।